close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

सालासर धाम में गंदगी का अंबार, बालाजी के दरबार में जाने के लिए गन्दे पानी से गुजर रहे भक्त

सालासर का ड्रैनेज सिस्टम फेल हो गया है, लेकिन प्रशासन ने इस समस्‍या को ध्‍यान दिलाने के बावजूद हल नहीं किया है.

सालासर धाम में गंदगी का अंबार, बालाजी के दरबार में जाने के लिए गन्दे पानी से गुजर रहे भक्त

सालासर(चूरू): विश्व भर में बालाजी मंदिर के लिए प्रसिद्ध राजस्‍‍थान के सालासर धाम में अंजनी माता मंदिर से पीएनबी बैंक तक ड्रैनेज सिस्टम फैल होने से वहां आने वाले श्रद्धालु परेशान हो रहे हैं. अंजनी माता मार्ग में पिछले 15 दिनों से अंजनी माता मार्ग पर सीवेज का गन्दा व बरसात का पानी सड़कों पर आने के कारण दूर दराज से आने वाले श्रद्धालुओं के लिए आफत बना हुआ है. गन्दे पानी की निकासी के अभाव में आसपास की धर्मशालाओं का पानी सड़कों पर आने के कारण घरों, दुकानदारों व बैंक, राजकीय सीनियर सैकण्डरी स्कूल में पढ़ने वाले छात्र छात्राओं व आम राहगीरों को भी भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

दुकानदारों व ग्रामीणों ने सालासर धाम विकास समिति के पदाधिकारियों द्वारा पिछले एक वर्ष से इस समस्या की ओर सीकर प्रशासन का ध्यानाकर्षित करवाने के बावजूद भी इसकी सुध नहीं ली गई. हिसार सेवा सदन के सतीश शर्मा ने बताया कि बाहर से आने वाले यात्री जो धर्मशाला से स्नान करके बालाजी के दर्शन करने के लिए निकलते हैं, उन्‍हें भारी परेशानी उठानी पड़ती है.  सड़क पर गन्दा पानी होने के कारण उसी से गुजरना होता है और यात्र फि‍र से गंदे हो जाते हैं.

बता दें कि सीकर जिले की सीमा होने के कारण चूरू प्रशासन भी इस समस्या के समाधान में रुचि नहीं ले रहा है. वहीं इस मामले में सालासर धाम विकास समिति के मैनेजर रोहितास शर्मा ने पत्रकारों को बताया कि पिछले एक वर्ष से गन्दे पानी की निकासी के लिए प्रशासन को पत्र लिखकर इस समस्या की ओर ध्यान दिलाया जा रहा है. फिर भी प्रशासन ने समस्या का समाधान नहीं किया. सालासर विकास धाम समिति के द्वारा प्रस्ताव लेकर एक करोड़ रुपए की लागत से  एसटीपी प्लांट लगाया जाने के लिए प्रशासन से स्वीकृति मांगी गई है.