18 जून से होगी बोर्ड परीक्षा, शिक्षकों और परीक्षा केंद्रों को लेकर DM के 2 अहम आदेश

कलेक्टर जोगाराम ने बताया कि अब क्वारंटाइन या राहत केन्द्र ऐसे स्कूलों में ही बनेंगे, जहां परीक्षा केन्द्र नहीं होंगे. 

18 जून से होगी बोर्ड परीक्षा, शिक्षकों और परीक्षा केंद्रों को लेकर DM के 2 अहम आदेश
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: 18 जून से माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के बकाया पेपरों की परीक्षा को लेकर जयपुर जिला कलेक्टर डॉ. जोगाराम ने दो अहम आदेश जारी किए हैं. पहले आदेश में उपखंड अधिकारियों, तहसीलदार और रिटर्निंग अधिकारियों को कोविड-19 और निर्वाचन कार्यों में लगे शिक्षा विभाग के कार्मिकों को कार्यमुक्त करने और स्कूलों में बने क्वारंटाइन सेंटर्स को मुक्त करने के साथ परीक्षा शुरू होने से पहले प्रत्येक परीक्षा केंद्र को सैनेटाइज करवाने के आदेश जारी किए हैं. 

कोविड-19 और निर्वाचन कार्यों सहित अलग-अलग कार्यालयों में लगे शिक्षा विभाग के कार्मिकों को कार्यमुक्त करने के जयपुर जिला कलेक्टर जोगाराम ने आदेश कर दिए हैं. शिक्षकों के अभाव में बोर्ड परीक्षा में किसी तरह की बाधा नहीं आनी चाहिए. इसके लिए तुरंत प्रभाव से उपखंड अधिकारियों, तहसीलदारों और रिटर्निंग अधिकारियों को कलेक्टर ने पत्र लिखकर सख्त हिदायत दी है. 

शिक्षा विभाग के ऐसे शैक्षणिक कार्मिक व्याख्याता, वरिष्ठ अध्यापक, अध्यापक, शारीरिक शिक्षक, पुस्तकालाध्यक्ष, प्रयोगशाला सहायक आदि को जो कार्यालय में या का कोविड-19 के संक्रमण को रोकने की कार्यवाही के लिए विभिन्न स्थानों, प्रतिनियुक्ति पर कार्य कर रहे हैं, उन्हें संबंधित विद्यालय के लिए तुरंत प्रभाव से कार्य मुक्त किया जाए.    

स्कूलों में बने क्वारंटाइन सेंटर्स को मुक्त करने के आदेश 
बोर्ड की 18 जून से शुरू होने जा रहीं शेष परीक्षाओं के आयोजन के लिए जयपुर के स्कूलों में बने क्वारंटाइन सेंटर्स को मुक्त करने के आदेश कलेक्टर डॉ. जोगाराम ने जारी किए हैं. जयपुर में परीक्षा के लिए 597 केंद्र बनाए गए हैं. इनमें 40 उप केन्द्र भी शामिल हैं. इन केंद्रों को सैनेटाइज करवाकर संस्था प्रधानों को सौंपने के निर्देश दिए हैं. 

कलेक्टर जोगाराम ने बताया कि अब क्वारंटाइन या राहत केन्द्र ऐसे स्कूलों में ही बनेंगे, जहां परीक्षा केन्द्र नहीं होंगे. इन केंद्रों को परीक्षा केन्द्र से अलग रखा गया है, जिससे स्टूडेंट्स को परेशानी का सामना न करना पड़े. परीक्षा केंद्रों को 16 जून तक सैनिटाइज करवा लिया जाएगा. प्रत्येक केंद्र पर प्रवेश से पूर्व परीक्षार्थियों के हाथ धोने को लेकर साबुन की व्यवस्था केंद्राधीक्षक को करने के लिए पाबंद किया. उन्होंने अधिकारियों से कहा कि कोरोना काल में सोशल डिस्टेंस का पालन करते हुए परीक्षाओं का आयोजन करना है. 

कोरोना के समय लगाई शिक्षा विभाग के कार्मिक की ड्यूटी
जिला प्रशासन द्वारा शिक्षकों को कोविड -19 में ड्यूटी, शेल्टर होम में ड्यूटी, टिड्डी मार अभियान में, मुफ्त राशन वितरण में, मनरेगा में, श्रमिक रेल के लिए रेलवे स्टेशनों पर, वन्दे भारत अभियान में एयरपोर्ट पर, विवाह स्थलों पर निगरानी में, प्रवासी श्रमिकों का (शेल्टर होम) मनोरंजन करने में हजारों की संख्या में शिक्षकों की ड्यूटी लगाई गई.