गलती से भी किसी को न भेजें ये मैसेज, वरना तुरंत अकाउंट करना होगा डिलीट

चार नए मरीजों के सामने आने के बाद राजस्थान में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या 36 हो गई है. 

गलती से भी किसी को न भेजें ये मैसेज, वरना तुरंत अकाउंट करना होगा डिलीट
राजस्थान में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या 36 हो गई है.

विष्णु शर्मा, जयपुर: सोशल मीडिया पर भी कोरोना को लेकर अफवाह नहीं फैले, इसे लेकर पुलिस सतर्कता बरत रही है. पुलिस कमिश्नरेट के अभय कमांड सेंटर में लोगों के सोशल अकाउंट पर पल पल की नजर रखी जा रही है.

कोरोना महामारी से बचाने के लिए सरकार पूरी तरह मुस्तैद नजर आ रही है. 21 दिन के लॉकडाउन का पालन कराने के लिए पुलिस कमर कसे हुए है. शहर में चौराहे चौराहे पर पुलिसकर्मी तैनात हैं, वहीं सोशल मीडिया पर भी कोरोना को लेकर अफवाह नहीं फैले, इसे लेकर पुलिस सतर्कता बरत रही है. पुलिस कमिश्नरेट के अभय कमांड सेंटर में लोगों के सोशल अकाउंट पर पल-पल की नजर गड़ाए हुए है.

अभय कमांड सेंटर में पुलिस कर रही सोशल मॉनिटरिंग
- टि्वटर फेसबुक तथा व्हाट्सएप मैसेज पर खूफिया नजर
- एरिया वाइज सोशल नेटवर्क को किया जा रहा चेक
- अफवाह या अन्य संदिग्ध मैसेज मिलने पर अफसरों को दी जा रही जानकारी
-फेसबुक पर अफवाह गलत मैसेज मिलने पर अकाउंट करवाया जा रहा डिलीट
-अफवाह भरे मैसेज मिलने पर पुलिस कर रही हाथों-हाथ कार्रवाई

दरअसल, राजस्थान (Rajasthan) में आज चार नए कोरोना वायरस (Coronavirus) के पॉजिटिव केस सामने आए हैं. इनमें से तीन केस भीलवाड़ा जिले के बताए गए हैं, जो कि मेडिकल स्टाफ से जुड़े हुए हैं. वहीं एक केस जोधपुर का है. 

इन चार नए मरीजों के सामने आने के बाद राजस्थान में कोरोना वायरस के कुल मरीजों की संख्या 36 हो गई है. इनमें से एक की मौत हो चुकी है, जो कि विदेशी नागरिक था. वो राजस्थान में कोरोना का सबसे पहला पॉजिटिव केस था.

दरअसल, कोरोना वायरस को लेकर राजस्थान सरकार बेहद सजगता दिखा रही है. गहलोत सरकार ने सबसे पहले पूरे में लॉकडाउन करने की घोषणा कर दी थी. सीएम खुद लगातार सभी स्थितियों पर नजर बनाए हुए हैं. राजस्थान में केवल आवश्यक सेवाओं से जुड़े वाहनों को ही अनुमति मिलेगी. स्टेट हाईवे से जुड़े सभी टोल बंदकर दिए गए हैं.