पाली: चिकित्सकों ने किया श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण, कोरोना से बचाव के लिए किया जागरूक

डॉ. नरेंद्र शर्मा ने श्रमिकों को आवश्यक दवाइयां प्रदान की एवं सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने, बार-बार हाथ धोने, मास्क  पहनने एवं सैनिटाइजर के उपयोग के लिए जागरूक किया.

पाली: चिकित्सकों ने किया श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण, कोरोना से बचाव के लिए किया जागरूक
राजस्थान देश का ऐसा पहला राज्य है, जहां अभियान चलाया रहा है.

सुभाष रोहिसवाल/पाली: पाली जिले के रायपुर उपखंड के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कुशालपुरा के चिकित्सा अधिकारी प्रभारी डॉ नरेंद्र शर्मा ने चिकित्सा टीम के साथ नरेगा सतर्क पर पहुंचे. इस दौरान, उन्होंने श्रमिकों का स्वास्थ्य जांच करने के साथ कोरोना (Corona) के बचाव को लेकर उपाय बताए.

इसके साथ ही, नरेंद्र शर्मा ने उनको आवश्यक दवाइयां प्रदान की एवं श्रमिकों को सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) बनाए रखने, बार-बार हाथ धोने, मास्क (Mask) पहनने एवं सैनिटाइजर (Sanitizer) के उपयोग के लिए जागरूक किया.

डॉ शर्मा ने बताया कि, नरेगा स्थल अस्पताल से दूर होने के कारण श्रमिक समय पर अपनी जांच नहीं करा पाते तथा दवा लेने में असमर्थ रहते हैं. इसको देखते हुए कुशालपुरा चिकित्सालय के संपूर्ण चिकित्सा दल के साथ डॉक्टर शर्मा आवश्यक दवाएं लेकर कुशालपुरा चिकित्सालय के अधीन आने वाले समस्त नरेगा स्थलों पर एक-एक करके जाकर श्रमिकों का स्वास्थ्य परीक्षण किया.

साथ ही, उन्होंने कोरोना महामारी बीमारी से बचने के लिए जागरूक किया. बता दें कि, राजस्थान में कोरोना वायरस का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है. राज्य में मंगलवार सुबह साढ़े दस बजे तक 94 नए कोरोना के मामले सामने आए हैं. स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक, मंगलवार सुबह साढ़े दस बजे तक कुल संक्रमित मामलों की संख्या 17,754 हो चुकी है.

वहीं, राज्य में कुल एक्टिव मामलों की संख्या 3,397 है. जबकि, अब तक कुल 13,948 कोरोना मरीज रिकवर्ड हुए हैं और कुल 409 मौतें कोविड पॉजिटिव लोगों की हुई हैं. गौरतलब है कि, राजस्थान की अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) सरकार प्रदेश में कोरोना महामारी को लेकर नागरिकों को जागरूक करने के मकसद से 21 जून से प्रदेश व्यापी 'जन जागरूकता अभियान' चला रही है. राजस्थान देश का ऐसा पहला राज्य है, जो प्रदेश स्तर पर इतना बड़ा अभियान चला रहा है.