मेयर सौम्या गुर्जर ने की पहल, 2 वार्डों में शुरू हुआ डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण

नई व्यवस्था के तहत दोनों वार्डो में कचरा संग्रहण के लिए 2-2 हूपर लगाए गए हैं. इन हूपरों में प्रत्येक में डाईवर के अतिरिक्त 2 हेल्पर नियुक्त किए गए हैं ताकि घरों से कचरा लेकर हूपर में डाल सकें.

मेयर सौम्या गुर्जर ने की पहल, 2 वार्डों में  शुरू हुआ डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण
2 वार्डों में शुरू हुआ डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

जयपुर: बीवीजी कंपनी के काम से नाराज नगर निगम ग्रेटर (Nagar Nigam Greater) महापौर डॉ. सौम्या ने शहर के दो वार्डों में नगर निगम के संसाधनों के जरिए सोमवार को डोर-टू-डोर (Door-To-Door) कचरा संग्रहण कार्य की शुरुआत की. निगम ने दावा किया है कि निगम के 4 हूपरों से वार्ड नं. 86 और 87 के शत-प्रतिशत घरों से कचरा संग्रहण किया.

नई व्यवस्था के तहत दोनों वार्डो में कचरा संग्रहण के लिए 2-2 हूपर लगाए गए हैं. इन हूपरों में प्रत्येक में डाईवर के अतिरिक्त 2 हेल्पर नियुक्त किए गए हैं ताकि घरों से कचरा लेकर हूपर में डाल सकें. इसके अतिरिक्त एक कर्मचारी को पृथक से मॉनिटरिंग के लिए लगाया गया है.

पहले दिन से ही निगम के कार्मिकों ने घरों से कचरा लेने के दौरान लोगों से गीले और सूखे कचरे को अलग-अलग डस्टबिनों (Dustbins) में रखने के लिए समझाना शुरू कर दिया है. साथ ही लोगों को जागरुक किया जा रहा है कि गीला कचरा हरे डस्टबिन (Green Dustbin) में तथा सूखा कचरा नीले डस्टबिन (Blue Dustbin) में रखें. इसके अतिरिक्त हूपरों में लाल डस्टबिन (Red Dustbin) भी लगाया गया है ताकि घरेलू हानिकारक कचरे को अलग से संग्रहित किया जा सके. कचरा रोड के बजाय हूपर से कॉम्पेक्टर में तथा काॉम्पेक्टर से डिपो में पहुंचाया गया.