राम मंदिर फैसले के बाद ऐसे हैं कोटा के हालात, 3 दिन बाद भी अलर्ट पर पुलिस

शहर में सौहार्दपूर्ण वातावरण को देखते हुए रैपिड एक्शन फोर्स का फ्लैग मार्च रोका गया है लेकिन सिटी पुलिस का अपना मार्च और निरीक्षण अभी अगले कुछ दिन और जारी रहेगा.

राम मंदिर फैसले के बाद ऐसे हैं कोटा के हालात, 3 दिन बाद भी अलर्ट पर पुलिस
अतिसंवेदनशील इलाकों में ड्रोन कैमरों द्वारा नजर रखी जा रही है.

केके शर्मा, कोटा: राम मंदिर (Ram Mandir) पर सुप्रीम फैसला आने के तीन दिन बाद भी कोटा पुलिस पूरी तरह से अपने अलर्ट (Alert) मोड पर है. शहर के चप्पे-चप्पे पर पुलिस निगरानी रख रही है. शहर में सौहार्दपूर्ण वातावरण को देखते हुए रैपिड एक्शन फोर्स का फ्लैग मार्च रोका गया है लेकिन सिटी पुलिस का अपना मार्च और निरीक्षण अभी अगले कुछ दिन और जारी रहेगा.

मामले में कोटा शहर एसपी दीपक भार्गव ने जानकारी दी है कि संवेदनशील और अतिसंवेदनशील इलाकों में ड्रोन कैमरों (Drone Monitoring) द्वारा नजर रखी जा रही है. इसके अलावा अभयकमंड सेंटर से संचालित हो रहे सभी सीसीटीवी कैमरों के जरिए भी कोटा पुलिस निगरानी बनाए हुए हैं. शहर में कोटा पुलिस के जवान चौकसी बनाए हुए हैं हालांकि फैसला आने के बाद से कोटा में पूरी तरह सौहार्द का माहौल है. 

इंटरनेट सेवा होगी बहाल
साथ ही कोटा में पिछले 3 दिनों से बंद इंटरनेट सेवा भी आज शुरू होने की उम्मीद है. इंटरनेट शुरू होने के बाद भी पुलिस की निगाहें सोशल मीडिया पर रहने वाली हैं. भ्रामक पोस्ट फैलाने वालों के खिलाफ पुलिस कठोर कानूनी कार्रवाई करने के पूर्व में ही आदेश जारी कर चुकी है. इसके लिए बाकायदा पुलिस कंट्रोल रूम की तरफ से एक व्हाट्सएप नंबर भी दिया गया था, जहां पर किसी भी तरह का आपत्तिजनक वीडियो आने पर पुलिस को भेजा जा सकता है. इसकी सूचना दी जा सकती है. 

मुस्तैद है पुलिस
वहीं कोटा ग्रामीण एसपी राजन दुष्यंत ने भी ग्रामीण इलाकों में सुरक्षा के लिहाज से पुख्ता निगरानी के लिए टीमें बनाई हैं, जो इलाकों में नजरें बनाए हुए हैं. ग्रामीण इलाके में आगामी नगरपालिका चुनावों को देखते हुए भी पुलिस पूरी तरह से मुस्तैद है.