राजस्थान में स्कूल खोलने के बाद छात्रों को दिया जाए सूखा राशन: संयम लोढ़ा

लोढ़ा ने कहा कि, सरकारी विद्यालयों के नामांकन में 7 फीसदी बच्चे पहली से सातवीं कक्षा के हैं. 8वीं से 12वीं की कक्षाएं कोरोना सुरक्षा उपाय की पालना करते हुए शुरू की जा सकती है.

राजस्थान में स्कूल खोलने के बाद छात्रों को दिया जाए सूखा राशन: संयम लोढ़ा
सरकारी विद्यालयों के नामांकन में 7 फीसदी बच्चे पहली से सातवीं कक्षा के हैं.
Play

जयपुर: राजधानी जयपुर विधायक संयम लोढा ने शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटसरा (Govind Singh Dotsara) से मुलाकात कर, राज्य में सितंबर से स्कूली शिक्षण संस्थाएं शुरू करने का आग्रह किया. डोटासरा ने कहा कि, भारत सरकार ने 31 अगस्त तक विद्यालय खोलने पर रोक लगा रखी है.

उन्होंने कहा कि, भारत सरकार की गाइडलाइन में छूट देने पर, इस संबंध में कार्यवाही की जा सकेगी. राजस्थान सरकार ने इस संबंध में पत्र भेज रखा है. विधायक संयम लोढा ने कहा कि, अभी चल रहे स्माईल कार्यक्रम में नेटवर्क के अभाव में बड़ी संख्या में बच्चे लाभांवित नही हो पा रहे हैं.

लोढ़ा ने कहा कि, सरकारी विद्यालयों के नामांकन में 7 फीसदी बच्चे पहली से सातवीं कक्षा के हैं. 8वीं से 12वीं की कक्षाएं कोरोना सुरक्षा उपाय की पालना करते हुए शुरू की जा सकती है. विद्यालय खोलने का काम अलग-अलग चरण में किया जा सकता है.

उन्होंने कहा कि, भारत सरकार की ओर से 1 सितंबर से स्कूल खोलने की अनुमति प्रदान किए जाने पर, फिलहाल मिड डे मील (Mid Day Meal) बंद रखा जाए. चाहे तो छात्र-छात्राओ को सूखा राशन दिया जा सकता है. लोढ़ा ने शिक्षा मंत्री से कहा कि, महात्मा गांधी (Mahatma Gandhi) अंग्रेजी विद्यालयों का छात्रों में भारी आर्कषण है.

विधायक ने कहा कि, भौतिक संसाधन की उपलब्धता के आधार पर सेक्शन बढ़ाए जाने चाहिए. इसी तरह आगामी बजट में ग्रामीण क्षेत्र में भी महात्मा गांधी अंग्रेजी विद्यालय की संख्या बढ़ानी चाहिए. विधायक संयम लोढा ने प्रदेश अध्यक्ष गोविंद डोटासरा से राजनीतिक परिस्थितियों पर भी चर्चा की.