close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

प्रतापगढ़: बिजली कनेक्शन न मिलने के कारण महिलाओं ने सिर पर मीटर रख किया प्रदर्शन

उपभोक्ताओं ने बिजली के खम्भों के लिए खोदे गए गड्ढों में उतर कर गुस्सा जताया. महिलाओं ने अपने सिर पर बिजली का मीटर रख कर प्रदर्शन किया. 

प्रतापगढ़: बिजली कनेक्शन न मिलने के कारण महिलाओं ने सिर पर मीटर रख किया प्रदर्शन
लोगों ने तीन माह पूर्व 500 रुपए का शुल्क जमा करवा कर बिजली के लिए आवेदन किया था.

प्रवेश परदेसी/प्रतापगढ़: उदयपुर के प्रतापगढ़ जिले की आड पंचायत में शामाओटा फला के ग्रामवासियों ने बिजली के कनेक्शन को लेकर विरोध प्रदर्शन किया. विरोध प्रदर्शन मे महिलाओं  ने अपने सिक पर बिजली का मीटर रखकर अपना विरोध जताया. खबर के मुताबिक गंव के लोगों ने 'प्रधानमंत्री ज्योति योजना' में यह सोच कर बिजली कनेक्शन के लिए आवेदन किया था कि उनके घर पर रोशनी रहेगी और भीषण गर्मी से राहत मिलेगी. 

लेकिन, जब पूरी गर्मी निकल गई और तीन महीने इंतजार के बाद भी बिजली कनेक्शन नहीं मिला, तो गुस्साए उपभोक्ता खम्भों के लिए खोदे गए गड्ढों में उतर गए. वहीं महिलाओं ने बिजली के मीटर अपने सिर पर रख कर प्रदर्शन किया.  धरियावद की जिले की आड पंचायत में शामाओटा फला के 32 लोगों ने तीन माह पूर्व 500 रुपए का शुल्क जमा करवा कर बिजली के लिए आवेदन किया था. 

बता दें कि इन ग्रामीणों में 16 बीपीएल और 16 एपीएल परिवार के हैं. विभाग ने कनेक्शन देने के लिए गड्ढे खोद दिए थे. बिजली के मीटर भी थमा दिए थे. सभी ग्रामवासी खुश हो गए कि उनके घर रौशनी होने वाली है. गर्मी के दिनों घर में पंखे-कूलर चलेंगे और भीषण गर्मी से राहत मिलेगी. जब कई दिन बीत गए और बिजली कनेक्शन नहीं हुआ तो सभी उपभोक्ता प्रधान रूपलाल मीणा से मिले, सहायक अभियंता राजेंद्र सांवरिया से मिले, प्रधानमंत्री को भी पत्र लिखा कि घर-घर बिजली कनेक्शन देने की प्रधानमंत्री ज्योति योजना खोखली साबित हो रही है. 

साथ ही गांववालों नें कई बार बिजली विभाग के चक्कर काटे, लेकिन उनकी कोई सुनने वाला नहीं था. यहां तक कि लोकसभा चुनाव का यह कह कर बहिष्कार कर दिया था कि 'बिजली नहीं तो वोट नहीं', फिर सरपंच के कहने पर उन्होंने मताधिकार का उपयोग किया. अब पूरे तीन महीने भीषण गर्मी के निकल चुके हैं, लेकिन अब तक पांववालों को बिजली नहीं मिल पाई.  

इसी कारण से सभी उपभोक्ताओं का गुस्सा फूटा जिसके बाद उपभोक्ताओं ने बिजली के खम्भों के लिए खोदे गए गड्ढों में उतर कर गुस्सा जताया. महिलाओं ने अपने सिर पर बिजली का मीटर रख कर प्रदर्शन किया. और बिजली विभाग के खिलाफ जम कर नारेबाजी की. ग्रामवासियों ने कहा बिजली तो नहीं मिली, लेकिन खम्भों के लिए जगह-जगह खोदे गए गड्ढों में बच्चे गिरते रहते हैं. बारिश आने वाली है, गड्ढों में पानी भर जाएगा और किसी को पता ही नहीं चलेगा कि यहां गड्ढा है.