close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

पंजाब की नहर से आ रहा जहरीला पानी, राजस्थान के इस गांव में बढ़ रही कैंसर पीड़ितों की तादाद

कैंसर के मरीजों के लिए वरदान बनी तपोवन ट्रस्ट की टीम अपनी कैंसर जांच वैन के साथ इस गांव में पहुंची और ग्रामीणों की कैंसर की जांच की.

पंजाब की नहर से आ रहा जहरीला पानी, राजस्थान के इस गांव में बढ़ रही कैंसर पीड़ितों की तादाद
प्रतीकात्मक तस्वीर

श्रीगंगनगर: एक गांव सात जैड में छह कैंसर के मरीज सामने आ चुके हैं. जिनमें से तीन की मौत हो चुकी है. इसकी वजह है गांव में सप्लाई किया जाने वाला पानी है. पंजाब की नहरों से राजस्थान में लगातार कैमिकल युक्त दूषित जल छोड़ा जा रहा है और धीरे धीरे यह कैंसर का रूप धारण करता जा रहा है. इस गांव में कैंसर से पीड़ित एक महिला और उसके परिजनों ने बताया कि वह पिछले चार साल से कैंसर से पीड़ित है. बीकानेर से इलाज भी करवाया और अब दवा चल रही है. उन्होंने कहा कि इलाज में लाखों रुपये खर्च हो चुके हैं लेकिन अभी भी आराम नहीं है और यह रोग दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है. पीड़ित महिला को तो कैंसर के कारण यह तक याद नहीं कि वह कब से बीमार चल रही है.

इस गांव में कैंसर से पीड़ित की भयावता इतनी है कि लोग खौफ में जी रहे हैं. गांव का एक परिवार है जहां पिता सुरजीत सिंह और उसका बेटा दोनों ही कैंसर से पीड़ित हैं और इलाज के लिए अलग अलग अस्पताल में भर्ती हैं. बीकानेर में सुरजीत के बेटे का इलाज चल रहा जिस कारण सुरजीत की पत्नी अपने बेटे की देखबाल के लिए बीकानेर में ही है. वहीं गांव के अस्पताल में सुरजीत का इलाज चल रहा है और उसकी देखबाल के लिए उसकी बहन आई हुई है. जिस कारण परिवार को दो जून की रोटी नहीं मिल पा रही है. 

कैंसर के मरीजों के लिए वरदान बनी तपोवन ट्रस्ट की टीम अपनी कैंसर जांच वैन के साथ इस गांव में पहुंची और ग्रामीणों की कैंसर की जांच की. ट्रस्ट के अध्यक्ष महेश पेड़ीवाल पीड़ित लोगों के घर भी गए और उनसे मुलाकात की और उचित सहयता देने का आश्वासन भी दिया. उधर गांव की सरपंच अनुपमा बिश्नोई ने कहा कि दूषित पानी के कारण यहां समस्या हो रही है. हालांकि ग्राम पंचायत अपने स्तर पर प्रयास कर रही है लेकिन इस समस्या के पूर्ण समाधान के लिए बड़े स्तर पर सरकारी प्रयास कि आवश्यकता है.