close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

बारां में बारिश के चलते उफान पर नदी-नाले, जान जोखिम में डाल कर लोग पार कर रहे नदी

बाइक सवार दोनों लोगों से रिटायर्ड फौजी तो तैरकर बाहर निकल गया, लेकिन लेखराज बाइक के साथ पानी में बह गया. ग्रामीणों की सूचना के बाद भी पुलिस व रेस्क्यू टीम नहीं पहुंची.

बारां में बारिश के चलते उफान पर नदी-नाले, जान जोखिम में डाल कर लोग पार कर रहे नदी
फाइल फोटो

राम मेहता, बारां: जिले में एक सप्ताह तक चली बरसात के चलते नदी-नाले उफान पर हैं. अब तक 7 से अधिक लोगों की मौत होने के बाद भी लोग जान जोखिम में डालकर नदियों की रपट को पार कर रहे हैं. रामगढ़-श्योपुर मार्ग पर कालापुट्टा की पुलिया को बाइक से पार करते समय दो जने बाइक समेत बह गए. इसमें से एक रिटायर्ड फौजी ने तैरकर जान बचा ली, लेकिन दूसरे की मौत हो गई. 

रामगढ़ निवासी लेखराज गुर्जर और रिटायर्ड फौजी जसवीर मांगरोल खरीदारी करने के लिए जा रहे थे. रामगढ़-श्योपुर रोड स्थित काला पट्टा पुलिया का पार करने दौरान पुलिया पर बीच में बहाव और गड्ढों के चलते वह संतुलन खो बैठे और बाइक फिसलने से नदी में बह गए. बाइक सवार दोनों लोगों से रिटायर्ड फौजी तो तैरकर बाहर निकल गया, लेकिन लेखराज बाइक के साथ पानी में बह गया. ग्रामीणों की सूचना के बाद भी पुलिस व रेस्क्यू टीम नहीं पहुंची. ऐसे में ग्रामीणों ने ही युवक का शव बाहर निकाला. 

जिले में अब तक नदी-नालों में डूबने से 7 लोगों की मौत हो चुकी है. इसमें 28 जुलाई को गोरधनपुरा में मांगीलाल, 1 अगस्त को रेलावन के पास भभूका नदी में कन्हैयालाल सहरिया, भड़का प्रपात पर एक ही दिन में हरीश मीना व मुकेश के साथ ही सोमवार को छीपाबड़ौद के कुंडीहेड़ा के साथ ही बुधवार को भी रामगढ़ क्षेत्र में भी नदी में डूबने से युवक की मौत हो चुकी है.