Dungarpur: 11 माह से वेतन के इंतजार में हैं 3,736 हेलपर्स, अधिकारियों की उदासीनता का हो रहे शिकार

Dungarpur News: सरकार की ओर से एक कुक कम हेल्पर को प्रतिमाह 1320 रुपए का मानदेय दिया जाता है. लेकिन डूंगरपुर जिले में मार्च 2020 से इन कुक कम हेल्पर्स को मानदेय नहीं मिल रहा है. 

Dungarpur: 11 माह से वेतन के इंतजार में हैं 3,736 हेलपर्स, अधिकारियों की उदासीनता का हो रहे शिकार
11 माह से वेतन के इंतजार में हैं 3,736 हेलपर्स. (प्रतीकात्मक तस्वीर)

Dungarpur: डूंगरपुर जिले में मिड-डे मिल (Mid-Day Meal) योजना में सरकारी स्कूलों के कुक कम हैल्पर्स को पिछले 11 माह से अपने मानदेय का इंतजार है. मार्च 2020 से मानदेय का भुगतान नहीं होने से जिले के 3 हजार 736 कुक कम हैल्पर्स प्रभावित हो रहे है और उनके सामने घर चलाना भी मुश्किल हो गया है, जबकि विभाग के पास करीब साढ़े चार माह का बजट भी मौजूद है. लेकिन ब्लाक शिक्षा अधिकारियो की लापरवाही के चलते ये भुगतान भी कुक कम हेल्पर्स को नहीं हो पाया है.

दरअसल, डूंगरपुर जिले में शिक्षा विभाग की ओर से 2 हजार 234 स्कूल संचालित है और इन स्कूलों में ३ हजार 736 कुक कम हेल्पर्स अपनी सेवाए दे रही हैं. सरकार की ओर से एक कुक कम हेल्पर को प्रतिमाह 1320 रुपए का मानदेय दिया जाता है. लेकिन डूंगरपुर जिले में मार्च 2020 से इन कुक कम हेल्पर्स को मानदेय नहीं मिल रहा है. कुक कम हेल्पर्स का कहना है की कोरोना के चलते लगे लोक डाउन के बाद से उन्हें उनका मानदेय नहीं मिला है, जबकि सरकार ने स्कूल बंद होने के बाद भी 11 माह के मानदेय के भुगतान के संबंध में आदेश भी जारी कर दिए हैं. लेकिन अभी तक कुक कम हेल्पर्स को उनके मानदेय का भुगतान नहीं हो पाया है, जिसके चलते उन्हें अपना घर चलाने में परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

आइए बताते हैं किस ब्लाक के कितने स्कूलों में कुक कम हेल्पर्स का भुगतान नहीं हुआ है-

ब्लाक                         स्कूलों की संख्या               कुक की संख्या                              
डूंगरपुर                           228                             424                                  
आसपुर                           173                            269                                  
दोवडा                             209                            351                                  
सीमलवाडा                      209                            330                                  
सागवाडा                        362                             580                                  
बिछीवाडा                       309                             514                                  
साबला                           161                             280                                    
गलियाकोट                    183                              320                                    
चिखली                          197                              324                                    
झोथरी                           203                              344                                    

कुल                              2234                            3736                                

इधर, मिड डे मिल योजना में डूंगरपुर शिक्षा विभाग के पास कुक कम हेल्पर्स को देने के लिए करीब साढ़े चार माह के मानदेय का ढाई करोड़ का बजट भी मौजूद है. प्रारंभिक शिक्षा विभाग के जिला अधिकारी ने उक्त बजट को सम्बंधित ब्लाक कार्यालय के खाते में ट्रांसफर भी कर दिया है. लेकिन ब्लाक शिक्षा अधिकारियो की उदासीनता के चलते अभी तक इन कुक कम हेल्पर्स को उनका मानदेय नहीं मिल पा रहा है. हालांकि, इस संबंध में जब प्रारंभिक जिला शिक्षा अधिकारी से बात कही गई तो उन्होंने कहा की इस संबंध में भी ब्लाक शिक्षा अधिकारियों को रिमांडर किया गया है और जितना बजट मौजूद है उसमे से जल्द ही मानदेय का भुगतान किया जाएगा.

बहरहाल, डूंगरपुर शिक्षा विभाग के जिला शिक्षा अधिकारी जल्द ही कुक कम हेल्पर्स को साढ़े चार माह का मानदेय देने की बात कर रहे है. लेकिन ब्लाक शिक्षा कार्यालय को बजट जारी करने के बाद भी अभी तक कुक कम हेल्पर्स को मानदेय का भुगतान नहीं किए जाना साफ-साफ ब्लाक शिक्षा अधिकारियो की लापरवाही को उजागर करता है.

(इनपुट-अखिलेश शर्मा)