कोरोना पॉजिटिव अधेड़ के अंतिम संस्कार में 50 लोग शामिल, कई लोग संक्रमित

आमली निवासी अधेड़ की मृत्यु के बाद कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गया है.

कोरोना पॉजिटिव अधेड़ के अंतिम संस्कार में 50 लोग शामिल, कई लोग संक्रमित
बारां सहित जिले की चार तहसीलों में पॉजिटिव केस मिले हैं.

राम मेहता, बारां: जिले में एक ही दिन में आठ केस सामने आने से हड़कंप मच गया. बारां सहित जिले की चार तहसीलों में पॉजिटिव केस मिले हैं. बारां में 5, समरानियां, सीसवाली और अटरू के आमली में एक-एक केस पॉजिटिव आया. इनमें से आमली निवासी अधेड़ की मृत्यु के बाद अंतिम संस्कार हो चुका है. इसके बाद उसकी रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है. इसके अंतिम संस्कार में 50 से अधिक लोग शामिल हुए हैं.

चिकित्सा विभाग कंटेनमेंट प्लान बनाकर संक्रमित लोगों की केस हिस्ट्री खंगाल रहा है. संपर्क में आए लोगों को होम आइसोलेट, क्वारेंटाइन जा रहा है. कल सुबह के दो संक्रमितों को कोटा भेजा है. शेष को देर शाम कोटा चिकित्सालय में भेज दिया है  इनके संपर्क में आए लोगों की सूची तैयार की जा रही है. इसी के हिसाब से उनकी सैंपलिंग भी की जा रही है.

चिकित्सा सूत्रों के अनुसार, कल सबसे पहले के समय दो जनों की रिपोर्ट जिसमें से एक तालाबपाड़ा निवासी संक्रमित महिला के 60 वर्षीय देवर की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है. वहीं इंदौर से समरानियां पहुंचे परिवार की 15 वर्षीय किशोरी की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है. चिकित्सा विभाग की टीम ने दोनों संक्रमितों के क्षेत्र में कंटनेमेंट जोन प्लान तैयार कर स्क्रीनिंग और सर्वे कर रही है. किशोरी को 108 एंबुलेंस की मदद से कोटा भेजा गया. तालाबपाड़ा क्षेत्र की संक्रमित महिला के देवर आमापुरा क्वारिन्टाइन सेंटर में भर्ती थे.

उन्हें भी कोटा भेज दिया है. विभाग ने दोनों जगह आवश्यक गतिविधियां की हैं. देर शाम की रिपोर्ट में बारां में चार, सीसवाली और अटरू के आमली से एक-एक जने की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है.

50 वर्षीय अधेड़ की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली 
चिकित्सा विभाग के अनुसार बारां जिला अस्पताल में आए 39 वर्षीय युवक, बारां हॉस्पिटल रोड निवासी 22 साल और 31 वर्षीय युवक, संक्रमित महिला के 65 वर्षीय पति पॉजिटिव आए हैं. वहीं सीसवाली के 25 वर्षीय महिला और अटरू के आमली 50 वर्षीय अधेड़ की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है. 

रिपोर्ट मिलते ही इनके संपर्क में आए लोगों की सूची बनाना शुरू कर दिया. संबंधित क्षेत्र का कंटेनमेंट प्लान बनाकर स्क्रीनिंग और सर्वे किया जा रहा है. समरानियां और बारां में स्क्रीनिंग और सर्वे शुरू करा दिया है. समरानियां में 200 घरों का सर्वे किया जा रहा है, वहीं, प्रभावित क्षेत्र में जिला कलेक्टर द्वारा जीरो मोबिलिटी घोषित कर दिया.

क्षेत्र में स्क्रीनिंग और सर्वे प्रारंभ 
समरानियां निवासी बालिका और उसका परिवार इंदौर से 22 मई को समरानियां लौटे. इनको होम आइसोलेट किया है. 28 मई को लिए गए सैंपल में 15 वर्षीय किशोरी की रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है. इसके संपर्क में परिजनों के सैंपल लिए गए हैं. किशोरी और उसके पिता को कोटा भेज दिया है. साथ ही क्षेत्र में स्क्रीनिंग और सर्वे प्रारंभ कर दिया है.

वहीं, 3 लोग दिल्ली से आए थे. तीनों ही संक्रमित मिले, जिसमें जिला अस्पताल में ऑक्सीजन लाइन ठीक करने मैकेनिक आया था, जिसकी जांच में कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव मिली है. वहीं शहर में हॉस्पिटल रोड निवासी एक युवक दिल्ली में डीटीसी बस में कार्यरत है. उसे परिवार सहित लेने के भाई बारां से गया था, जो सबको लेकर बारां आ गया था. यहां युवक और भतीजे की तबीयत बिगड़ने पर उनका सैंपल लिया था. इनकी रिपोर्ट भी जांच में पॉजिटिव मिली है.

अंतिम संस्कार में 50 लोग शामिल 
आमली निवासी अधेड़ की मृत्यु के बाद कोरोना की रिपोर्ट पॉजिटिव आने से हड़कंप मच गया है. अधेड़ की मृत्यु के बाद उसके शव को लाकर गांव में अंतिम संस्कार भी कर दिया. जहां उसके अंतिम संस्कार में 50 लोग शामिल होना बताया जा रहा है. ग्रामीणों का आरोप है कि अस्पताल प्रशासन की लापरवाही से पूरे गांव के लोग चिंतित हैं. आमली निवासी अधेड़ के बेटा नहीं होने से दंपत्ति बेटी-दामाद के पास रहते हैं. 5 मई को तबीयत खराब होने पर चरड़ाना अस्पताल में दिखाया गया. वहां पर टीबी का सैंपल लिया गया. इसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर दवाइयां शुरू कर दी गई. 

खांसी होने पर 27 मई को सीधे ही बारां जिला अस्पताल पहुंच गया, जहां इसको भर्ती कर लिया गया. इसका सैंपल लिया गया. इसकी कल सुबह मृत्यु हो गई, जिसके बाद शव परिजनों के सुपुर्द कर दिया गया. गांव ले जाकर कल सुबह करीब 11 बजे अंतिम संस्कार भी कर दिया. शाम को आई रिपोर्ट में कोरोना पॉजिटिव आया है.

अधेड़ को टीबी के साथ खांसी और उल्टियां हो रही थी. रैंडम सैंपलिंग की थी. ट्रेवल हिस्ट्री नहीं होने से रिपोर्ट आने से पहले मृत्यु होने से परिजनों को शव सौंप दिया गया.