शर्मनाक: स्कूल से लौट रही नाबालिग का अपहरण कर 3 दिन तक किया गैंगरेप, मामला दर्ज

आपको बता दें, बदमाशों ने 26 जून को पहले छात्रा का अश्लील वीडिया बनाया और फिर पीड़िता को वीडियो वायरल करने की भी धमकी दी.

शर्मनाक: स्कूल से लौट रही नाबालिग का अपहरण कर 3 दिन तक किया गैंगरेप, मामला दर्ज

सीकर: श्रीमाधोपुर के रतनपुरा गांव में विद्यालय से लौट रही नाबालिग छात्रा का अपहरण कर 3 दिन तक गैंगरेप करने का मामला सामने आया है. जानकारी के मुताबिक बदमाश छात्रा का अपहरण कर पहले उसे रेवाड़ी ले गए. जहां 3 दिनों तक बदमाशों ने नाबालिग के साथ रेप किया और फिर बदहवास हालत में रेवले स्टेशन पर छोड़ कर फरार हो गए. मामले की जानकारी मिलने के बाद पुलिस जांच में जुट गई है.  

आपको बता दें, बदमाशों ने 26 जून को पहले छात्रा का अश्लील वीडिया बनाया और फिर पीड़िता को वीडियो वायरल करने की भी धमकी दी. जिसके चलते नाबालिग ने अपने परिजनों को घटना की कोई जानकारी नहीं दी. इसके बाद 21 अगस्त को स्कूल से लौटते समय पीड़िता का गाड़ी में आरोपियों ने अपहरण किया और उसे हरियाणा ले गए. 

जहां छात्रा से मारपीट की और जबरन शराब पिलाई और 3 दिन तक सामुहिक दुष्कर्म किया और ज्यादती के दौरान हो बालिका की तबीयत बिगड़ी तो आरोपी उसे रेवाड़ी रेलवे स्टेशन के पास छोड़कर फरार हो गए. इधर होश में आने के बाद छात्रा जब वापस श्रीमाधोपुर लौटी तो घटना की जानकारी परिजनों और पुलिस को देने पर नामजद मुख्य आरोपी को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ की. 

पीड़ित छात्रा का कहना है कि करीब 26 दिन पहले योगेश कुमावत उसको बहाने से अजीतगढ़ में एक सुनसान जगह पर ले गया था. यहां पर अपने दो अन्य साथियों के साथ मिलकर दुष्कर्म किया और छात्रा का अश्लील वीडियो बना लिया और किसी को बताने पर वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल करने और जान से मारने की धमकी दी. 

योगेश ने अपने साथी मनीष, नरेंद्र, लोकेश, मनोज यादव, संजय शर्मा से शारिरिक संबंध बनाने के लिए दबाव डाला. डर के कारण उसने यह घटना अपने परिजनों को भी नहीं बताई. 6 दिन पहले छात्रा स्कूल की छुट्टी होने पर सहेलियों के साथ पैदल घर आ रही थी. पेट में दर्द होने पर वह सड़क किनारे पेड़ के नीचे बैठ गई और उसकी सहेली आगे निकल गई. इस दौरान नांगल की तरफ से सफेद कलर की गाड़ी आई जिसमें 5 लोग बैठे थे और छात्रा को उसके घर छोड़ने की बात कही. मना किया तो मोबाइल पर उसका अश्लील वीडियो दिखाया. 

डर के कारण छात्रा गाड़ी में बैठ गई. दरिंदों ने चलती गाड़ी में छात्रा को कपड़े उतारने को कहा मना करने पर उसके साथ मारपीट की और शराब पिलाकर रेवाडी ले गए. जहां दरिंदों ने पीड़िता छात्रा के साथ सभी ने मिलकर गैंगरेप किया. पीड़िता ने बताया कि उसे काफी दर्द और ब्लीडिंग होने के बावजूद भी आरोपियों ने उस रहम नहीं किया. फिलहाल पुलिस पीड़िता छात्रा के बयान करवा रही हैं. वहीं दरिंदे, पुलिस गिरफ्त से अभी दूर हैं. परिजनों का कहना है कि पुलिस रोज बयानों के अलावा कोई कार्य नहीं कर रही है और आरोपियों के खिलाफ कोई कार्यवाही नहीं कर रहीं.