राजस्थान: सैंपल टेस्ट में हर 47वां मरीज पॉजिटिव, इन जिलों में सबसे ज्यादा खतरा

इन सबके बीच राहत की बात यह है कि प्रदेश में पॉजिटिव मरीजो के रिकवर्ड होने का सिलसिला जारी है. 

राजस्थान: सैंपल टेस्ट में हर 47वां मरीज पॉजिटिव, इन जिलों में सबसे ज्यादा खतरा
प्रतीकात्मक तस्वीर.

मुकेश सोनी, कोटा: देश भर में धीरे-धीरे कोरोना का ख़ौफ़ बढ़ता जा रहा है. अनलॉक 1 में प्रदेश में भी दिन-ब-दिन पॉजिटिव मरीजों के आंकड़े बढ़ने लगे हैं. बात करें राजस्थान की तो प्रदेश में हर 47वां सैंपल जांच में पॉजिटिव आ रहा है जबकि हर 44 वां कोरोना संक्रमित मरीज मौत का शिकार हो रहा है. 

चिकित्सा एंव स्वास्थ्य से जारी रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेश में अबतक 5 लाख 84 हजार 954 सैंपल टेस्ट हो चुके हैं, जिनमें से 12 हजार 532 कोरोना पॉजिटिव मिले हैं जबकि 286 लोगों की मौत हो चुकी है. 

इन आकंड़ों से प्रदेश में कोरोना का मीटर समझें
सैंपल टेस्ट       पॉजिटिव            मौत
5,84,954         12,532           286
46.67 की सैंपल टेस्ट में 1 पॉजिटिव (मतलब 47वां मरीज). यानी 44वें पॉजिटिव मरीज की मौत (43.81)
(स्त्रोत स्टेट आईडीएसपी की रिपोर्ट रविवार सुबह तक)

इन जिलों में कहर बरपा रहा वायरस
प्रदेश के आठ जिले ऐसे हैं, जहां कोरोना वायरस कहर बरपा रहा है. भरतपुर, पाली, नागौर, जयपुर, उदयपुर, अजमेर, जोधपुर और कोटा ऐसे जिले हैं, जहां 400 से ज्यादा पॉजिटिव केस हैं. पॉजिटिव केस के प्रतिशत में खासकर भरतपुर, पाली, नागौर, जयपुर और उदयपुर स्थिति गम्भीर है. वर्तमान में कोरोना का कहर सबसे ज्यादा भरतपुर, पाली और नागौर में देखने को मिल रहा है. भरतपुर में सैंपलिंग में हर 20ंवा व्यक्ति, पाली में हर 25वां व्यक्ति और नागौर में हर 31वां व्यक्ति पॉजिटिव मिल रहा है. इन आठ जिलों के मुकाबले कोटा की स्थिति बेहतर है. यहां हर 70वें सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव केस रिपोर्ट हुआ है. 

आंकड़ों से समझें प्रति सैंपल पॉजिटिव
1. भरतपुर
टेस्ट              पॉजिटिव
19307            971            
यानी 19.88 सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव 

2. पाली
टेस्ट               पॉजिटिव          
18361            749               
यानी 24.51 सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव 

3. नागौर
टेस्ट              पॉजिटिव           
16830          543               
यानी 30.99 सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव 

4. जयपुर
टेस्ट              पॉजिटिव               
88583            2520             
यानी 35.15 सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव 

5. उदयपुर
टेस्ट              पॉजिटिव           
22114            602              
यानी 36.73 सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव 

6. अजमेर
टेस्ट              पॉजिटिव           
20263          415             
यानी 48.82  सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव 

7. जोधपुर
टेस्ट              पॉजिटिव           
107229           2115           
यानी 50.69  सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव 

8. कोटा
टेस्ट              पॉजिटिव           
37714            545              
यानी 69.2  सैंपलिंग टेस्ट में 1 पॉजिटिव 

यानी भरतपुर में 20, पाली में 25, नागौर में 31, जयपुर में 36, उदयपुर में 37, अजमेर में 49, जोधपुर में 51वां कोटा में 70वां सैंपल, टेस्ट में पॉजिटिव रिपोर्ट हो रहा है. 

प्रति पॉजिटिव मौत 
प्रदेश में प्रति पॉजिटिव केस में मौत के मामलों में जयपुर पहले नम्बर पर है. आंकड़ों पर नजर डालें तो जयपुर में हर 20वां पॉजिटिव मरीज मौत का शिकार बना है. कोटा दूसरे नम्बर पर है. यहां हर 31वां मरीज कोरोना की चपेट में आने से दम तोड़ चुका है. 

आकंड़ों से समझें
1. जयपुर  
पॉजिटिव          मौत   
2520             128
यानी हर 20 वें पॉजिटिव मरीज की मौत (19.68)

2. कोटा
पॉजिटिव          मौत  
545                18
यानी हर 31वें पॉजिटिव मरीज की मौत (30.27)

3. अजमेर
पॉजिटिव          मौत   
415              12
यानी हर 35 वें पॉजिटिव मरीज की मौत (34.58)

4. भरतपुर
पॉजिटिव           मौत
971                17
यानी हर 58 वें पॉजिटिव मरीज की मौत (57.11)

5. नागौर
पॉजिटिव           मौत
543                9
यानी हर 61 वें पॉजिटिव मरीज की मौत (60.33)

6. जोधपुर
पॉजिटिव           मौत
2115              27
यानी हर 79 वें पॉजिटिव मरीज की मौत (78.33)
रिकवरी रेट 75 प्रतिशत

हालांकि इन सबके बीच राहत की बात यह है कि प्रदेश में पॉजिटिव मरीजो के रिकवर्ड होने का सिलसिला जारी है. स्टेटआईडीएसपी की रिपोर्ट के अनुसार, प्रदेश में 75 प्रतिशत रिकवरी रेट है. प्रदेश में कुल पॉजिटिव केस में से 9 हज़ार से अधिक रिकवर्ड हो चुके है. 2700 के आस पास एक्टिव केस हैं.