अलवर: मुंडावर में आबकारी विभाग ने की अवैध शराब पर कार्रवाई, फिर भी उठे सवाल

मुंडावर थाना प्रभारी निरंजन पाल सिंह ने बताया कि इन दिनों मुंडावर थाने में 18 मुकदमे दर्ज हुए.

अलवर: मुंडावर में आबकारी विभाग ने की अवैध शराब पर कार्रवाई, फिर भी उठे सवाल
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जुगल किशोर गांधी, अलवर: मुंडावर थानांतर्गत क्षेत्र में अवैध हथकड़ शराब माफियाओं के खिलाफ आबकारी विभाग ने कार्रवाई तो की लेकिन पुलिस की शिकायत पर. अब आबकारी विभाग पर सवाल उठ रहे हैं कि आखिर विभाग अपने स्तर पर क्यों नही कार्रवाई रहा? आखिर इस मामले में पुलिस को क्यों कदम उठाने पड़ रहे हैं?

मुंडावर थाना प्रभारी निरंजन पाल सिंह की ओर से बार-बार की जा रही शिकायतों के चलते आखिर देर रात आबकारी विभाग ने क्षेत्र के गांव बापडोली में अवैध शराब कारोबारियों के विरुद्ध कार्रवाई को अंजाम दिया. इसके चलते आबकारी विभाग ने देर रात क्षेत्र के गांव बापडोली में दबिश की कार्रवाई करते हुए आठ भट्टी, पचपन लीटर शराब, पांच हजार लीटर वाश को नष्ट कर दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया. आबकारी पुलिस थाना खैरथल के वृत निरीक्षक आशुतोष बगड़िया और थाना प्रभारी विजय कुमार ने क्षेत्र के गांव बापडोली में सयुंक्त कार्रवाई की. 

इस मामले में आबकारी एक्ट में अभियोग दर्ज कर निर्मल सिंह पुत्र राजेंद्र सिंह रायसिख निवासी बापडोली और कमल सिंह पुत्र राजेंद्र सिंह रायसिख निवासी बापडोली को गिरफ्तार किया. गौरतलब है कि इस कार्रवाई से पहले मुंडावर थाना पुलिस ने लॉकडाउन पीरियड में क्षेत्र में अवैध शराब तस्करों के विरुद्ध 18 मामले दर्ज किए.

क्या कहना है पुलिस का
मुंडावर थाना प्रभारी निरंजन पाल सिंह ने बताया कि इन दिनों मुंडावर थाने में 18 मुकदमे दर्ज हुए. इसमें 20 लोगों को गिरफ्तार किया गया. एक हजार लीटर हथकढ़ शराब जब्त की गई. थाना प्रभारी ने बताया कि लॉक डाउन के दिनों में शराब डिमांड बढ़ गई थी जिसके चलते अवैध शराब कारोबारी  कुछ अधिक सक्रिय हो गए थे. 

इसके चलते अवैध शराब कारोबार के लिए कुख्यात क्षेत्र के गांव शीलगांव, बापडोली, तिनकीरूडी, सोडावास एवं भानोत में दबिश की कार्रवाई की गई. थाना प्रभारी द्वारा शिकायत किये जाने के बाद आबकारी विभाग द्वारा अवैध शराब कारोबारियों के विरुद्ध कार्रवाई करना आबकारी विभाग की कार्यप्रणाली पर सवालिया निशान खड़ा कर रहा है. देखना यह है कि आबकारी विभाग एवं पुलिस महकमे में आपसी तालमेल कब दिखाई देता है?