close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: डेयरी को प्लास्टिक के प्रयोग की मिली छूट पर्यावरण पर पड़ रही भारी

हालांकि नियमों के तहत छूट के बावजूद कही ना कही ये प्लास्टिक हमारे पर्यावरण और जानवरों को नुकसान पहुंचा रही है.

जयपुर: डेयरी को प्लास्टिक के प्रयोग की मिली छूट पर्यावरण पर पड़ रही भारी
नियमों के तहत डेयरियों को छूट दी गई है. (प्रतीकात्मक फोटो)

जयपुर: प्लास्टिक पर बैन के बावजूद डेयरी प्रोडक्ट्स को प्लास्टिक के प्रयोग की मिली छूट पर्यावरण पर भारी पड़ती दिख रही है. डेयरी कंपनिया या संचालकों को एक पॉलिथिन पर 20 माइक्रोन से ज्यादा प्लास्टिक के इस्तेमाल की इजाजत मिली है. इस मामले में डेयरी कंपनियों के अधिकारियों ने मीडिया से कुछ भी कहने से इंकार कर दिया.

प्लास्टिक के उपयोग पर पूरी तरह से बैन होने के बावजूद हमारे घरों में डेयरी से रोजाना आने वाले दूध के प्रोडेक्ट आज भी प्लास्टिक की पॉलिथिन में आ रहे है. प्लास्टिक की रोकथाम के लिए नगर निगम ने कई बार अभियान चलाया. लेकिन इन डेयरियों पर कभी कोई कार्रवाई नहीं की गई. 

जयपुर डेयरी समेत दूसरी डेयरियां धड़ल्ले से डेयरी प्रोडेक्ट्स पॉलिथिन में बेच रहे हैं. ये पॉलिथिन जानवरों के लिए जानलेवा होती है. डेयरी शहर में रोजाना 10 लाख लीटर दूध की सप्लाई पूरे करता है. जिस कारण रोजाना जयपुर डेयरी 10 लाख प्लास्टिक पॉलिथिन से पर्यावरण को दूषित कर रहा है. इस संबंध में संबंधित अधिकारियों ने मीडिया से बातचीत करने से इंकार कर दिया.

नियमों के तहत मिली है छूट
हालांकि नियमों के तहत डेयरियों को इन पॉलिथिन के उपयोग की छूट दी गई है. जिसमें डेयरी कंपनिया या संचालक एक पॉलिथिन पर 20 माइक्रोन से ज्यादा प्लास्टिक इस्तेमाल कर सकते है .लेकिन कही ना कही ये प्लास्टिक हमारे पर्यावरण और जानवरों को नुकसान पहुंचा रही है.