जोधपुर: आपके स्वास्थ्य के साथ भी हो सकता है धोखा, मेडिकल स्टोर को लेकर हुआ बड़ा खुलासा

इस वर्ष जुलाई महीने में एक्सपायर हुई दवाईयां, इस जगदंबा मेडिकल स्टोर द्वारा जीएसटी बिल के साथ बेची जा रही हैं.

जोधपुर: आपके स्वास्थ्य के साथ भी हो सकता है धोखा, मेडिकल स्टोर को लेकर हुआ बड़ा खुलासा
मेडिकल स्टोर में दवाओं को लेकर खुलेआम धोखाधड़ी दो रही है.

अरुण हर्ष/जोधपुर: कोरोना वायरस (Coronavirus) के फैलते संक्रमण के चलते, जहां एक ओर केन्द्र व राज्य सरकारों के साथ-साथ चिकित्सा विभाग बड़ी सतर्कता से कार्य कर रहा है और मरीजो‌ का उपचार करने में प्रयासरत हैं.  ऐसे में कुछ मेडिकल स्टोर कोरोना काल को सुनहरा मौका समझकर 'चांदी कूटने' से पीछे नहीं हट रहे हैं.

इसके चलते मेडिसिन लेने आए मरीज के परिजन को कौन सी दवा देनी चाहिए और‌ उस पर एक्सपायरी डेट क्या है. ये भी देखना उचित नहीं समझते, तो आप भी सावधानी और‌ सतर्कता से ही दवाइयां खरीदें. वर्ना, आपके स्वास्थ्य के साथ बड़ा धोखा हो सकता है.

दरअसल, कुछ ऐसा ही एक मामला फलोदी में भी सामने आया है, जहां एक शख्स अपनी गर्भवती पत्नी को उल्टी होने की शिकायत पर डाक्टर्स द्वारा सुझाई टेबलेट लेने रेलवे स्टेशन रोड स्थित जगदम्बा मेडिकल स्टोर पहुंचा. यहां मेडिकल स्टोर संचालक द्वारा उसे एक्सपायर डेट टेबलेट का पत्ता थमा दिया गया जिसको लेकर जब शख्स ने मेडिकल स्टोर संचालक से शिकायत की तो‌,‌ संचालक ने कहा ये तो चलता रहता है इसे लेने से कुछ हुआ तो नहीं या किसी ने इस टेबलेट को लिया तो नहीं. यानी मेडिकल स्टोर संचालक अपने आउटडेटेड स्टाक का मिलानकर, ग्राहकों को खतरे से बचाने की बजाय मरीज के मेडिसिन लेने का इंतजार कर‌ रहा था.

इतना ही नहीं, इस वर्ष जुलाई महीने में एक्सपायर हुई दवाईयां, इस जगदंबा मेडिकल स्टोर द्वारा जीएसटी (GST) बिल के साथ बेची जा रही हैं. इससे ये तो साफ हो जाता है कि, इस मामले को हम मानवीय भूल ‌भी नहीं बता सकते, क्योंकि ग्राहक की शिकायत पर मेडिकल स्टोर संचालक द्वारा अपने ऊंचे रसूक का रौब झाड़कर, उल्टा ग्राहक को ही खरी-खोटी सुनाई गई.

वहीं, राजकीय चिकित्सालय के ठीक पास जगदंबा मेडिकल स्टोर संचालक के रवैए से आहत होकर, पीड़ित ग्राहक अब कंज्यूमर कोर्ट या लेबर‌ कोर्ट में जाने की तैयारी में लगा है.