Rajasthan में कोविड केस बढ़ने पर गहलोत ने जताई चिंता, कहा-अतिरिक्त सावधानी की जरूरत

Rajasthan Corona Case: सीएम ने कहा कि अधिक टेस्टिंग, भीड़ पर नियंत्रण, मास्क पहनने, बार-बार हाथ धोने और सामाजिक दूरी के कोरोना से बचाव के नियमों के पालन में फिर से कड़ाई लाएं.

Rajasthan में कोविड केस बढ़ने पर गहलोत ने जताई चिंता, कहा-अतिरिक्त सावधानी की जरूरत
सीएम अशोक गहलोत ने की कोविड की समीक्षा बैठक.

Jaipur: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने प्रदेश में कोविड-19 महामारी के संक्रमण की दूसरी लहर के आसन्न खतरे पर गंभीर चिंता व्यक्त करते हुए सभी स्वास्थ्य एवं प्रशासनिक अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि वे अपने पुराने अनुभव के आधार पर महामारी के नियंत्रण के लिए उपलब्ध संसाधनों को उपयोग में लें.

1 सप्ताह में बढ़ा 3 गुना संक्रमण दर
सीएम ने कहा कि अधिक टेस्टिंग, भीड़ पर नियंत्रण, मास्क पहनने, बार-बार हाथ धोने और सामाजिक दूरी के कोरोना से बचाव के नियमों के पालन में फिर से कड़ाई लाएं. गहलोत ने गुरूवार को मुख्यमंत्री निवास पर वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम कोरोना संक्रमण की स्थिति की समीक्षा बैठक के दौरान कहा कि एक सप्ताह में ही कोरोना संक्रमण की पॉजिटिविटी दर का 3 गुना बढ़ जाना बेहद चिंताजनक है.

कोविड के दूसरे लहर से बचाना है
उन्होंने कहा कि बीते एक वर्ष के दौरान कोरोना से लड़ने का हमारा जो साझा अनुभव है, उसके आधार पर
हमें प्रदेशवासियों को दूसरी लहर के खतरे से बचाना है. इसके लिए विभिन्न राजनीतिक दलों, सामाजिक संगठनों, कार्यकर्ताओं और धर्म गुरूओं आदि के साथ विचार-विमर्श करेंगे.

कई राज्यों की स्थिति चिंताजनक
मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी पक्षों को साथ लेकर और आपसी समन्वय के साथ ही हम अब तक कोरोना से जंग को सफलतापूर्वक लड़ पाए हैं. मुख्यमंत्री ने कहा कि बुधवार को प्रधानमंत्री के साथ सभी राज्यों की बैठक में यह बात
सामने आई है कि पूरे देश में संक्रमण फिर से बढ़ रहा है और कई राज्यों में हालात बहुत अधिक चिंताजनक हो गए हैं. 

सावधानी बरतने की जरुरत
उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि आने वाले दिनों में प्रदेश में संकमण की किसी भी गंभीर स्थिति से निपटने के लिए अतिरिक्त सावधानी बरतते हुए ऑक्सीजन प्लांट, टेस्टिंग लैब, क्वारेंटाइन और कन्टेमेन्ट जोन जैसी सुविधाओं को दुरूस्त करें और आवश्यकतानुसार उपयोग के लिए तैयार रखें.

नियम ना मानने वालों पर हो सख्त कार्रवाई
Ashok Gehlot ने कहा कि हम सबको मिलकर यह सुनिश्चित करना होगा कि वायरस के संकमण को फैलने से रोकने में कोई लापरवाही नहीं बरतें. उन्होंने पुलिस, स्थानीय निकाय सहित सम्बन्धित अधिकारियों को मास्क नहीं पहनने तथा बाजारों एवं अन्य सार्वजनिक जगहों पर भीड़भाड़ की स्थिति उत्पन्न करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए.

जागरुकता अभियान की जरूरत
उन्होंने कहा कि एक बार फिर से आम लोग को कोविड से बचाव के उपाय अपनाने के लिए समझाने के उद्देश्य से व्यापक जागरूकता अभियान चलाया जाए. वहीं, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने कहा कि कोविड-19 महामारी के संक्रमण को बढ़ने से रोकने के लिए हमें हर संभव उपाय करना होगा.

अलर्ट मोड पर रह कर बरतें सावधानी
उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों से कहा कि फिलहाल कुछ ही जिलों में पॉजिटिव केसेज बढ़े हैं और इसी शुरूआती दौर में संक्रमण को नियंत्रित किया जा सकता है. उन्होंने कहा कि विभाग के अधिकारियों को अन्य विभागों के साथ समन्वय करते हुए हमेशा अलर्ट मोड में रहकर सभी सावधानियों को अपनाते हुए कोरोना के नियंत्रंण का बेहतरीन प्रबंधन करना है.

300 से ज्यादा मामले प्रतिदिन सामने आ रहे
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य सचिव सिद्धार्थ महाजन ने राजस्थान की कोविड संकमण की वर्तमान स्थिति पर विस्तृत प्रस्तुतीकरण दिया. उन्होंने बताया कि बीते दो दिनों में प्रतिदिन 300 से अधिक कोरोना पॉजिटिव मामले आए हैं तथा कुल रोगियों की संख्या 3 हजार से अधिक हो गई है. संतोष की बात यह है कि अधिकतर एक्टिव केसेज होम आइसोलेशन में ही है.

सैंपलिंग बढ़ाने का निर्देश
उन्होंने बताया कि स्वास्थ्य विभाग ने लगातार बढ़ रहे संकमण को नियंत्रित करने के लिए सैम्पलिंग बढ़ाने तथा संदिग्ध रोगियों को आइसोलेट कर उनका तुरन्त इलाज शुरू करने की योजना बनाई है. इसके लिए जिला स्तर के स्वास्थ्य अधिकारियों तक आवश्यक निर्देश दे दिए गए हैं.