हवालात में बंद भाई को छुड़वाने के लिए IAS बनकर किया फर्जी कॉल, खुद भी पहुंचा Jail

राजधानी जयपुर की मानसरोवर थाना पुलिस (Jaipur Police) ने कॉल स्पूफिंग (Call spoofing) के आरोपी को कोर्ट में पेश किया जहां से आरोपी को जेल भेज दिया है. 

हवालात में बंद भाई को छुड़वाने के लिए IAS बनकर किया फर्जी कॉल, खुद भी पहुंचा Jail
पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बलवंत सिंह को गिरफ्तार कर लिया.

जयपुर: राजधानी जयपुर की मानसरोवर थाना पुलिस (Jaipur Police) ने कॉल स्पूफिंग (Call spoofing) के आरोपी को कोर्ट में पेश किया जहां से आरोपी को जेल भेज दिया है. मानसरोवर पुलिस ने मंगलवार को कॉल स्पूफिंग के जरिए खुद को पूर्व चीफ सेक्रेटरी डीबी गुप्ता (Former CS DB Gupta) बताते हुए एसीपी मानसरोवर संजीव चौधरी (Sanjeev Chaudhary) को फोन कर हवालात में बंद एक युवक को जल्द जमानत देने की बात कहने वाले आरोपी युवक को गिरफ्तार किया था. 

दरअसल मुहाना थाना पुलिस द्वारा सोमवार देर शाम को शांति भंग के आरोप में योगेंद्र सिंह को गिरफ्तार किया था, जिसे मंगलवार दोपहर एसीपी मानसरोवर द्वारा जमानत दी जा रही थी. इसी दौरान योगेंद्र के भाई बलवंत सिंह ने एसीपी कार्यालय के बाहर से फोन कर खुद को डीबी गुप्ता बताते हुए योगेंद्र को जल्द रिहा करने के आदेश दिए. 

वहीं, शक होने पर जब एसीबी मानसरोवर संजीव चौधरी ने डीबी गुप्ता को फोन किया तो उन्होंने योगेंद्र रावत किसी भी युवक की जमानत के लिए फोन करने से साफ इनकार कर दिया. जिस पर पुलिस ने कार्रवाई करते हुए बलवंत सिंह को गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने जब बलवंत सिंह को गिरफ्तार किया तो उसने खुद को एक राजनीतिक पार्टी से जुड़ा होना भी बताया जो की पूरी तरह से फर्जी पाया गया. 

आरोपी के खिलाफ दिल्ली में वाहन चोरी के अनेक प्रकरण दर्ज है. फिलहाल पुलिस स्पूफिंग कॉल नेटवर्क की जांच में जुटी है.

ये भी पढ़ें: Dausa में एक ही परिवार की 4 महिलाओं के साथ Rape, 10 साल की मासूम भी बनी शिकार!