राजस्थान में खिले किसानों के चेहरे, समर्थन मूल्य पर फसल की हुई बंपर खरीद

गहलोत सरकार ने अब तक 1 लाख 1 हजार 765 किसानों से 1231 करोड़ की खरीद कर चुकी है, जो अपने आपमें एक नया रिकार्ड है.

राजस्थान में खिले किसानों के चेहरे, समर्थन मूल्य पर फसल की हुई बंपर खरीद
79,996 किसानों को 969 करोड कर भुगतान किया जा चुका है.

जयपुर: राजस्थान में समर्थन मूल्य पर उपज की खरीद के बाद लाखों किसानों की चांदी-चांदी हो गई. सही समय पर उपज के सही दाम मिलने से किसानों के चेहरे खुशी से खिल उठे है. किसानों से मूंग और मूंगफली की 1 लाख 99 हजार मीट्रिक टन से ज्यादा की खरीद की जा चुकी है. सबसे महत्वपूर्ण बात ये है कि किसानों को उपज का भुगतान चार दिन के अंदर सीधे उनके खातों में किया जा रहा है. 

बता दें कि, गहलोत सरकार ने अब तक 1 लाख 1 हजार 765 किसानों से 1231 करोड़ की खरीद कर चुकी है, जो अपने आपमें एक नया रिकार्ड है. इनमें से 79,996 किसानों को 969 करोड कर भुगतान किया जा चुका है.
 
ई-रिसिप्ट सिस्टम से चार दिन में भुगतान
सहकारिता मंत्री उदयलाल आंजना ने बताया कि किसानों को जल्द से जल्द भुगतान हो, इसके लिए वेयर हाउस ई-रिसिप्ट सेवा शुरू की गई है. यह पहली बार हुआ है कि किसान द्वारा उपज बेचान करने के चार दिवस के भीतर ही भुगतान सीधा उसके खाते में पहुंच रहा है.

बॉयामैट्रिक पद्धति से ऑनलाइन पंजीयन
मूंग के लिए 1 लाख 32 हजार 174 किसानों और मूंगफली के लिए 1 लाख 21 हजार 184 किसानों ने अपनी उपज बेचान के लिए बायोमैट्रिक सिस्टम से ऑनलाइन पंजीयन कराया है. जिसमें से मूंग के लिए 95 हजार 228 और मूंगफली के लिए 59 हजार 132 किसानों को तारीख आवंटित की जा चुकी है.

आकंडों में समझे,कितनी-कितनी खरीद हुई
अब तक 95 हजार 228 किसानों से 781.10 करोड़ रूपये का, 1 लाख 10 हजार 794 मीट्रिक टन मूंग और 59 हजार 132 किसानों से 450.41 करोड़ रूपये की, 88 हजार 489 मीट्रिक टन मूंगफली की खरीद की जा चुकी है. खरीद को लेकर बारदाने की पूरी उपलब्धता है और किसानों से निर्बाध रूप से खरीद की जा रही है. किसी भी खरीद केन्द्र से कोई भी शिकायत मिलने पर उसका तुरन्त समाधान किया जा रहा है.

गहलोत सरकार लाखों किसानों को समर्थन मूल्य पर उपज की खरीद कर उन्हें राहत पहुंचाने की कोशिश कर रही है, ताकि किसानों को उनकी मेहनत का उचित दाम मिल सके.