बारां: बीज वितरण में दिक्कतों से किसान परेशान,घंटो इंतजार के बाद भी नहीं मिल रहा बीज

जिले में अनुदानित गेंहू के बीज के लिए किसानों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. सुबह से बीज के लिए बीज वितरण के काउटरों पर किसानों की लम्बी लम्बी कतार लग जाती हैं. कर्मचारी अपने चहेतों को बीच में ही बीज के कट्टे दे रहे हैं. जिससे किसानों में काफी रोष है

बारां: बीज वितरण में दिक्कतों से किसान परेशान,घंटो इंतजार के बाद भी नहीं मिल रहा बीज
प्रतीकात्मक तस्वीर

बारां: जिले में अनुदानित गेंहू के बीज के लिए किसानों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है. सुबह से बीज के लिए बीज वितरण के काउटरों पर किसानों की लम्बी लम्बी कतार लग जाती हैं. बीज नही मिलने से परेशान किसान बीज वितरण में अनियमितता का आरोप लगा रहें हैं. किसानों का कहना है की  वो लंबी कतारों में बीज के लिए इंतजार करते हैं लेकिन कर्मचारी अपने चहेतों को बीच में ही बीज के कट्टे दे रहे हैं. जिससे किसानों में काफी रोष है

जिले में रबी सीजन में करीब साढ़े तीन लाख हैक्टेयर में रबी फसल की बुवाई का लक्ष्य है। इसमें से करीब 1 लाख 75 हजार हैक्टेयर में गेहूं की बुवाई होनी है। जिले में सरकार की ओर से लघु सीमांत किसानों को अनुदानित बीज उपलब्ध कराया जा रहा है। लेकिन जो किसान बीज लेने के लिए पंहुच रहे हैं.उन्हें घंटों कतरों में इंतजार करने के बाद भी बीज नहीं मिल पा रहा है.अटरू रोड क्रय-विक्रय सहकारी समिति पर मात्र एक काउंटर होने से  दिनभर से कतार लगी रहती है जिससें किसानों में भारी रोष है

किसानों का कहना है की काउटर पर बैठें कर्मचारी अलग से पैसा लेकर किसानों को बीज दे रहें है वहीं सुबह से भूखे प्यासे लाइनों में खड़े किसान परेशान हो रहे हैं. इतना ही नहीं किसानों को क्रय केंद्रों में कोई परेशानी न हो इसके भी कोई इंतजाम नहीं किए गए हैं.

वहीं कृषि विभाग और बीज निगम के अधिकारी बीज की पर्याप्त उपलब्धता का दावा कर रहे हैं। क्रय-विक्रय सहकारी समिति के महा प्रबंधक सौमित्र कुमार मंगल का कहना है की बारां जिले में  बीज लघु सीमांत किसानों को अनुदान पर दिया जाएगा। जिले में बीज की पर्याप्त उपलब्धता है। ओर इस बार सहकारी समिति के माध्यम से वितरण हो रहा है।

अधिकारियों ने बताया की इस बार चना 3500 रूपयें प्रति क्विंटल ओर गेंहू पर 1800 रूपयें प्रति क्विंटल अनुदान पर वितरण किया जा रहा है.अधिकारियों ने दावा किया की 12482 क्विटल गेंहू का वितरण होना है और इसमें से 25 फीसद वितरण हो चुका है