अलवर: Lockdown ने किसानों की बढ़ाई चिंता, मंडी बंद होने से परेशान

राजस्थान के अलवर जिले में किसानों की मानें तो, इस समय गेंहू की फसल कट कर तैयार हो चुकी है. लेकिन लॉकडाउन के चलते मंडिया बंद है. 

अलवर: Lockdown ने किसानों की बढ़ाई चिंता, मंडी बंद होने से परेशान
देश के किसानों का भी हाल खराब है.

जुगल गांधी/अलवर: कोरोना वायरस (Coronavirus) संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए केंद्र सरकार द्वारा पूरे देश में 21 दिनों का लॉकडाउन (Lockdown) लागू किया गया है. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी चीजों पर प्रतिबंध है.

ऐसे में देश के अन्नदाता किसानों का भी हाल खराब है. राजस्थान के अलवर जिले में किसानों की मानें तो, इस समय गेंहू की फसल कट कर तैयार हो चुकी है. लेकिन लॉकडाउन के चलते मंडिया बंद है. ऐसे में वह अपनी फसल को बेच नहीं पा रहे हैं.

 इतना ही नहीं, लॉकडाउन से कुछ ही दिन पूर्व किसानों ने अपनी सरसों की फसल काटी. लेकिन लॉकडाउन के चलते अधिकांश किसान अपनी फसल को बेच नहीं पाए. हालांकि, गहलोत सरकार कोशिश कर रही है कि सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखते हुए मंडियों को खोला जाए.

वहीं, अलवर जिले की उमरैण पंचायत के किसानों की मानें तो, हालात कुछ इस कदर बिगड़ चुके है कि कुछ समय पूर्व इस क्षेत्र में हुई ओलावृष्टि से फसल बर्बाद हुई. इसके बाद सरसों व गेंहू लॉकडाउन के चलते बेच नहीं पाए. ऐसे में उन्हें बस इंतजार है कि कब लॉकडाउन खुले और वो अपनी फसल को बेच कर अपना गुजारा करें.

कई किसानों का दर्द यह भी था कि ऐसे में फसल कहां रखें. घर मे जगह नहीं और मौसम कभी भी बदल जाता है, ओले गिरने लगते हैं. कई किसानों की फसल अभी कट भी नहीं पाई है. ऐसे में अगर बारिश या ओले पड़ जाते है तो किसानों को दोहरी मार होगी. वहीं, कई किसानों की फसल कट कर खुले में पड़ी है. क्योंकि उनके पास घर में रखने को जगह नहीं है.