चूरू: अपनो से परेशान बेटी की गुहार- 'मामला दर्ज नहीं करवाना, जहर का इंजेक्शन दे दो'

पीड़िता ने बताया कि, वह चार बहनें हैं और उनके चाचा ताऊ, उनके पिता की भूमि हड़पने के लिए इस तरह का कृत्य बार-बार कर रहे हैं.

चूरू: अपनो से परेशान बेटी की गुहार- 'मामला दर्ज नहीं करवाना, जहर का इंजेक्शन दे दो'
पुलिस घायल युवती का बयान ले रही थी तो, घायल ने रो-रोकर अपनी व्यथा सुनाई.

नरेंद्र राठौड़/चूरु: राजस्थान के चूरू जिले के सातड़ा गांव में सोमवार को एक पिता-पुत्री के साथ आपसी रंजिश के चलते परिवार के लोगों ने मारपीट की, जिसमें दोनों गंभीर रूप से घायल हो गए. गंभीर रूप से घायल पुत्री व पिता को राजकीय डीबी अस्पताल के आपातकालीन वार्ड में भर्ती करवाया गया है.

सूचना मिलते ही रतननगर पुलिस भी मौके पर पहुंची और मौका-मुआयना करने के बाद रतननगर पुलिस राजकिय डीबी अस्पताल पहुंची. जहां पर घायलों के पर्चा बयान लिया गया. वहीं, जब पुलिस घायल युवती का बयान ले रही थी तो, घायल ने रो-रोकर अपनी व्यथा सुनाई कि, उन्होंने पहले भी पुलिस में इन लोगों के खिलाफ कई बार परिवाद दिए. लेकिन पुलिस ने इस ओर कोई ध्यान नहीं दिया, इससे इनका हौसला बढ़ गया.

पीड़िता ने बताया कि, वह चार बहनें हैं और उनके चाचा ताऊ, उनके पिता की भूमि हड़पने के लिए इस तरह का कृत्य बार-बार कर रहे हैं. घायल लड़की ने बार-बार पुलिस के सामने यह गुहार की कि, अब कोई मामला दर्ज नहीं करवाना चाहती है. उसे जहर का इंजेक्शन दे दिया जाए.

उसने कहा कि, वह कहेगी कि किसी की कोई बेटी पैदा नहीं हो. वहीं, घायल पुत्री के पिता ताराचंद ने बताया कि, उनके साथ उनके परिवार के 5 लोगों ने मारपीट की है. उन्होंने बताया कि, उनकी पुत्री आज सुबह दूध लेने के लिए गई हुई थी, उसी दौरान इन लोगों ने उसका हाथ पकड़कर घर में घसीट कर ले गए और उसके साथ मारपीट की है, जब उसने अपनी पुत्री के रोने और चिल्लाने की आवाज सुनी तो वह, दौड़कर उसे बचाने गया तो उसके साथ भी मारपीट की गई.

रतननगर पुलिस थाने के हेड कांस्टेबल रोहिताश ने बताया कि, बयान लिया गया है, अब इनकी लिखित रिपोर्ट देने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी.