नवरात्रि से शुरू हो रहा त्योहारी सीजन, मुनाफे को लेकर कारोबारियों की बढ़ी उम्मीदें

इस बार कोरोना के असर ने सभी सेगमेंट पर मंदी की मार दिखाई दे रही है. 

नवरात्रि से शुरू हो रहा त्योहारी सीजन, मुनाफे को लेकर कारोबारियों की बढ़ी उम्मीदें
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: प्रदेश के बाजार अनलॉक फेज के बावजूद ग्राहकों की बांट जोह रहे हैं. तीज, रक्षाबंधन, जन्माष्टमी और गणेश चतुर्थी के बाद अब उम्मीदें दीपावली के त्योहारी सीजन से हैं. नवरात्रि से शुरू हो रहे सीजन से शुभ और लाभ की उम्मीदें कारोबारियों को है. 

जयपुर सहित प्रदेशभर में त्योहारी सीजन में 35 हजार करोड़ रुपये से अधिक का खुदरा कारोबार होने की उम्मीद है. पिछले सीजन में साठ हजार करोड़ रुपये का कारोबार हुआ था. नवरात्रि पर इस बार बड़े आयोजन नहीं हो रहे है, हालांकि परंपरा के अनुसार आयोजन होंगे. नवरात्रि को देखते हुए बाजार में ऑफर्स की भी धूम है.

यह भी पढ़ें- आई Amazon-Flipkart की धमाकेदार सेल, जानें कौन दे रहा ज्यादा छूट और बेस्ट ऑफर...

मुख्य बिंदु

  • 35 हजार करोड़ रुपये से अधिक का खुदरा कारोबार संभावित
  • पिछले सीजन में 60 हजार करोड़ के पार था व्यापार
  • कोरोना संक्रमण से प्रभावित बाजारों को त्योहारी उम्मीद
  • हालांकि पिछले सीजन के मुकाबले पिछड़ा हुआ है बाजार
  • ऑटो मोबाइल, इलेक्ट्रोनिक्स, मोबाइल, गारमेंट
  • लाइट वेट ज्वैलरी, रियल एस्टेट सेक्टर में उछाल की उम्मीद
  • बाजार में बूम के लिए ऑफर्स की भी भरमार
  • सभी सेक्टर में मिल रहे है आकर्षक ऑफर
  • हालांकि इस बार नए प्रतिष्ठान खुलने की दर सबसे कम

कोरोना संक्रमण के चलते बाजार सुस्त है, लेकिन त्योहारी सीजन में मार्केट में बूम डाला है. नवरात्रि के चलते इलेक्ट्रोनिक्स, मोबाइल, गारमेंट, ऑटो मोबाइल, लाइट वेट ज्वैलरी, रियल एस्टेट सेक्टर में उछाल देखा जा रहा है. कारोबारियों को भी उम्मीद है कि धीरे-धीरे आप ग्राहक बाजार की ओर लौटेगे. अब तक के त्यौहारों पर उम्मीद से कम कारोबार से कारोबारी निराश है लेकिन नवरात्रि से उम्मीदें बंधी हुई है हालांकि अभी भी बड़े सेगमेंट बंपर मांग के इंतज़ार में हैं. ग्राहक बाजार आए इसके लिए नवरात्रि सीजन में ऑफर्स के जरिए ग्राहकों को लुभाने की तैयारी है.

सभी सेगमेंट पर मंदी की मार
इस बार कोरोना के असर ने सभी सेगमेंट पर मंदी की मार दिखाई दे रही है. अब ग्राहक बाजार में धीरे धीरे बाजार में लौटने लगा है, जिसका लाभ त्योहारी सीजन में मिलना तय है. अकेले नवरात्रि में कारोबारियों को 2000 करोड़ रुपये के कारोबार की उम्मीद हैं. इस बार बड़े आयोजन नहीं होने से खाद्य कारोबारियों को भी नुकसान होगा, लेकिन दीपावली सीजन से पहले की रफ्तार नवरात्रि पर दिख सकती है. चौड़ा रास्ता व्यापार मंडल के अध्यक्ष सौभाग्यमल अग्रवाल का कहना है कि उम्मीदों से कारोबार कम है, लेकिन निराश का माहौल दूर करने का प्रयास बाजार कर रहा हैं. अब तक बाजार कोरोना संक्रमण के असर से संभले नहीं है, बड़ी खरीद करने से ग्राहक बच रहे है, लेकिन त्योहारी सीजन में ऑटो, गारमेंट, इलेक्ट्रोनिक्स, ज्वैलरी और रियल एस्टेट सेक्टर में सुधार दिख सकता है.

दीपावली शुभ और लाभ का त्यौहार है. सालभर के बिक्री के लिहाज से सबसे बड़े सीजन दीपावाली में कोरोना को परास्त कर कारोबारी रफ्तार बढ़ाने की जिद कारोबारियों की है. बिक्री का रुझान त्यौहार के समय दीपक में तेल की मात्रा तय करेगा.