close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर: क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटीज पर देश में पहली कार्रवाई, 49 को थमाए नोटिस

केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए बैनिंग ऑफ अनरेग्यूलेटेड डिपोजिट स्कीम एक्ट के तहत सोसायटीज पर शिकंजा कसा जा रहा है. इस एक्ट की शक्तियों का प्रयोग करते हुए सहकारिता विभाग ने 49 क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटीज को नोटिस थमाए हैं.

जयपुर: क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटीज पर देश में पहली कार्रवाई, 49 को थमाए नोटिस
तीन सोसायटीज के मालिकों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

जयपुर: देशभर में जनता को लूटने वाली क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटीज की लूट मची है. इसी लूट के बीच देश की पहली कार्रवाई राजस्थान में शुरू हो गई है. प्रदेश के सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार नीरज के पवन ने जालसाल क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटीज पर शिकंजा कसना शुरू कर दिया है. 

केंद्र सरकार द्वारा बनाए गए बैनिंग ऑफ अनरेग्यूलेटेड डिपोजिट स्कीम एक्ट के तहत सोसायटीज पर शिकंजा कसा जा रहा है. इस एक्ट की शक्तियों का प्रयोग करते हुए सहकारिता विभाग ने 49 क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटीज को नोटिस थमाए हैं. 15 दिन के थमाए गए नोटिस में ये हिदायत दी गई है कि निवेशकों को पैसा समय से नहीं लौटाया गया तो खाते सीज किए जाएंगे. यदि खातों में पैसा नहीं होगा तो गहलोत सरकार संपत्तियां सीज कर नीलाम करेगी. नीलाम की गई संपत्तियों से अर्जित पैसा निवेशकों को लौटाया जाएगा.

देश में राजस्थान पहला ऐसा राज्य है, जहां केंद्र सरकार का बैनिंग ऑफ अनरेग्यूलेटेड डिपोजिट स्कीम एक्ट पहली बार लागू किया गया. अभी तक किसी भी दूसरे राज्य में इस एक्ट को लागू नहीं किया गया है. सहकारी समितियों के रजिस्ट्रार नीरज के पवन का कहना है कि जालसाल करने वाली सोसायटीज अब बच नहीं पाएंगी. इस एक्ट का शक्तियों का प्रयोग करते हुए हम स्टेट और मल्टीस्टेट सोसायटीज पर कार्रवाई करेंगे. पहले सोसायटीज को नोटिस देकर पैसा लौटाने को कहा जा रहा है. यदि तय समय में सोसायटीज पैसा नहीं लौटाती है तो उनके बैंक खातों को सीज किया जाएगा. खातों में पैसे नहीं होने की स्थिति में तुरंत सोसायटीज की संपत्ति सीज की जाएगी.

इन सोसायटीज को थमाए गए नोटिस
दित्य को-ऑपरेटिव सोसायटी, असरा को-ऑपरेटिव सोसायटी, अमरदीप को-ऑपरेटिव सोसायटी, भविष्य को-ऑपरेटिव सोसायटी, नवजीवन को-ऑपरेटिव सोसायटी, सहारा को-ऑपरेटिव सोसायटी, सहारायन यूनिवर्सल मल्टीपर्पज सोसायटी लिमिटेड, समृद्धा जीवन मल्टी स्टेट मल्टी पर्पज क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी, श्री कोटेश्वर अरबन क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी, अथर्व क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी, आस्था को-ऑपरेटिव सोसायटी, एमआरबी को-ऑपरेटिव सोसायटी बेडा, एसबीबीजे कर्मचारी बचत एवं साख सहकारी समिति लि., मारवाड़ क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लि. बाड़मेर चौहटन, श्री क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी लि.बाड़मेर समेत 49 सोसायटीज को नोटिस थमाए गए हैं.

निवेशकों का पैसा लौटाने में राज्य सरकार कामयाब होगी
पहली सिविल कोर्ट की बैठक में सोसायटीज की जानकारी एकत्रित करने के लिए पटवारियों को निर्देश दिए गए हैं. इसके साथ ही आरबीआरई को पत्र लिखकर भी मल्टीस्टेट सोसायटीज के खाते सीज करने के लिए कहा गया है. रजिस्ट्रार नीरज के पवन का कहना है कि मल्टीस्टेट सोसायटीज पर कंट्रोल या तो उस स्टेट के रजिस्ट्रार का है या फिर केंद्रीय रजिस्ट्रार का. इसलिए हम उन स्टेट से भी संपर्क में जहां की सोसायटीज ने राजस्थान में लूट मचाई है और केंद्रीय रजिस्ट्रार से भी संपर्क में हैं. जल्द ही निवेशकों का पैसा लौटाने में राज्य सरकार कामयाब होगी.

अब तक आदर्श, नवजीवन और संजीवनी क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटीज पर शिकंजा कस चुकी है और तीन सोसायटीज के मालिकों को गिरफ्तार किया जा चुका है. अब दूसरी क्रेडिट कॉपरेटिव सोसायटीज पर भी एफआईआर दर्ज हो सकती है और समय से पैसाया नहीं लौटाया तो उन सोसायटीज के मालिकों को भी जेल जाना पड़ेगा.