राजस्थान विधानसभा के पांचवें सत्र का आज पहला दिन, सियासी संग्राम में फंसा सेशन

राजस्थान विधानसभा के पांचवें सत्र का आज पहला दिन है. 11:00 बजे से विधानसभा सत्र की शुरुआत होगी. 9:30 बजे होटल फेयरमोंट से कांग्रेस के विधायक रवाना होंगे. 

राजस्थान विधानसभा के पांचवें सत्र का आज पहला दिन, सियासी संग्राम में फंसा सेशन
फाइल फोटो

जयपुर: राजस्थान विधानसभा के पांचवें सत्र का आज पहला दिन है. 11:00 बजे से विधानसभा सत्र की शुरुआत होगी. 9:30 बजे होटल फेयरमोंट से कांग्रेस के विधायक रवाना होंगे. बसों के जरिए विधायकों को विधानसभा लाया जाएगा. सचिन पायलट कैंप के विधायक निजी गाड़ियों से विधानसभा पहुंचेंगे.  

सरकार आज विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव ला सकती है. दोपहर 3:00 बजे विधानसभा के रूम नंबर 102 में बीएससी की बैठक होनी है. आज कांग्रेस के विधायकों की बाड़े बंदी खत्म हो जाएगी. 2 दिन के अवकाश के चलते आज कांग्रेस विधायक अपने विधानसभा क्षेत्र जा सकेंगे. विधानसभा के बाहर सुरक्षा के कड़े इंतजाम किये गए हैं.

ये भी पढ़ें: राजस्थान विधानसभा में लंबा है विश्वास-अविश्वास मत का इतिहास, जानें कब कौन हुआ चित्त?

कोरोना के चलते विधानसभा में प्रवेश के लिए भी नई गाइडलाइन बनाई गई है. दर्शक दीर्घा में प्रवेश पर रोक रहेगी. बाहर से आने वाले वाहनों को सैनिटाइज कर ही भीतर प्रवेश दिया जाएगा. विधायकों के निजी स्टाफ को भी आज भीतर जाने की अनुमति नहीं मिलेगी.

विधानसभा के सदन में 45 से ज्यादा अतिरिक्त सीटें लगाई गई हैं. सोफा और कुर्सियों को लोहे की चैन से बांधकर रखा गया है. विधानसभा सचिवालय को भी तनाव की आशंका है. इसी के मद्देनजर लोहे की चैन से फर्नीचर बांधा गया है.

सदन में आज शोकाभिव्यक्ति होगी. पूर्व राज्यपाल एमपी लालजी टण्डन, पूर्व राज्यपाल झारखण्ड वेद मारवाह, पूर्व सीएम छत्तीसगढ़ अजीत जोगी, पूर्व विधायक भंवर लाल शर्मा, बजरंग लाल शर्मा, हनुमान सहाय शर्मा समेत लद्दाख के गलवान सेक्टर में शहीद हुए भारतीय सैनिक को श्रद्धांजलि दी जाएगी.

साथ ही आपको बता दें की कांग्रेस पार्टी के एक नेता ने कहा,'विधायक दल की यहां हुई बैठक में यह घोषणा की गई कि, विधानसभा में विश्वास प्रस्ताव लाया जाएगा.'

विधायक दल की बैठक में मुख्यमंत्री गहलोत (Ashok Gehlot) ने विधायकों से अब तक हुई बातों को भूलकर आगे बढ़ने को कहा. विधानसभा का पांचवां सत्र शुक्रवार से शुरू हो रहा है. इससे पहले राजस्थान कांग्रेस विधायक दल (CLP) की बैठक गुरुवार शाम मुख्यमंत्री निवास (CM House) में शुरू हुई.

सूत्रों ने बताया कि, बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के साथ साथ पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट (Sachin Pilot) भी शामिल हुए और बैठक में पायलट के समर्थक विधायक भी मौजूद रहे. गौरतलब है कि, बैठक से ठीक पहले गहलोत व पायलट अलग से मिले.

वहीं, विधानसभा सत्र से ठीक पहले बीजेपी ने विधानसभा में सरकार के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाने का ऐलान किया है. बीजेपी कार्यालय में हुई विधायक दल की बैठक के बाद मीडिया से बात करते हुए नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया ने कहा था कि सरकार पिछले 1 महीने में होटलों में बंद रही है, ऐसे में सरकार ने जनता का भरोसा खो दिया है. 

कटारिया ने कहा था कि शुक्रवार सुबह विधानसभा सचिव को अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया जाएगा. कटारिया ने सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस अब फटे हुए कपड़े पर टांका लगाने की कोशिश कर रही है लेकिन कपड़ा एक बार फट चुका है लिहाजा अब वह ज्यादा दिन तक नहीं टिकेगा.

ये भी पढ़ें: राजस्थान में गहलोत सरकार का बड़ा कदम, अब मोबाइल OPD वैन के जरिए मिलेंगी फ्री दवाएं