राजस्थान में कोरोना संक्रमित बुजुर्ग की मौत, सरकार ने बताई यह वजह

भीलवाड़ा निवासी नारायण सिंह पूर्व से ही क्रोनिक किडनी डिजीज और मधुमेह का रोगी थे. 

राजस्थान में कोरोना संक्रमित बुजुर्ग की मौत, सरकार ने बताई यह वजह
प्रतीकात्मक तस्वीर.

जयपुर: राजस्थान (Rajasthan) में कोरोना (Coronavirus) से पहली मौत का मामला सामने आने से हड़कंप मच गया है. मामले को लेकर सरकार का आधिकारिक बयान जारी हो चुका है. 

एसीएस मेडिकल रोहित कुमार सिंह ने बयान जारी करते हुए कहा है कि मृतक नारायण सिंह की उम्र 73 साल थी. भीलवाड़ा निवासी नारायण सिंह पूर्व से ही क्रोनिक किडनी डिजीज और मधुमेह का रोगी थे. इस मरीज का हिमोडायलिसिस चल रहा था. ब्रेन स्ट्रोक (लकवा) आने के चलते वो कोमा में चले गए थे.

इसके बाद ब्रजेश बांगड़ ने उन्हें भीलवाड़ा के निजी हॉस्पिटल में भर्ती करवाया था. वो 3 से 11 मार्च 2020 तक बांगड़ अस्पताल में भर्ती रहे. इसी दौरान उन्हें अस्पताल के पॉजिटव चिकित्सकों से संक्रमण हुआ.

कोमा की कंडीशन में ही उनके कोरोना टेस्ट के लिए सैंपल ले लिए गए थे. इसमें मृतक नारायण कोविड-19 पॉजिटिव पाए गए थे. अधिकारी का कहना है कि नारायण कोविड-19 से पहले से ही किडनी फेलियर और ब्रेन स्ट्रोक के कारण कोमा में थे. सरकार ने रोगी की मौत की वजह कोविड-19 नहीं बल्कि पूर्व ग्रसित बीमारियां बताई हैं.

भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के 645 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जिनमें से 12 लोगों की मौत हो चुकी है. देश में बुधवार को कोरोना वायरस के 74 नए मामले सामने आए. राजस्थान की बात करें तो बुधवार को कोरोना वायरस के दो नए मामले और आज 1 नया मामला सामने आया. इसके बाद राजस्थान में कोरोना पॉजिटिव मीरीजों की संख्या 39 हो गई है. 

खबर के मुताबिक, एक मामले की पुष्टि भीलवाड़ा में हुई है जबकि दूसरा मामला झुंझुनूं जिले से आया है. ऐसे में भीलवाड़ा में कोरोना के पॉजिटिव मरीजों की संख्या 17 पहुंच गई है. बता दें कि, राजस्थान में सबसे ज्यादा मामले भीलवाड़ा से ही आए हैं. 

वहीं, पूरे देश में कोरोना के मराजों की बात करें तो कोविड-19 इंडिया डॉट ओआरजी की डैशबोर्ड पर उपलब्ध जानकारी के अनुसार, देश में कोरोना वायरस के संक्रमण के 645 मामलों की पुष्टि हुई है, जिनमें से 591 सक्रिय मामले हैं, जबकि इससे पीड़ित 43 मरीज ठीक हो चुके हैं. इस घातक बीमारी की चपेट में आने से 12 लोगों की मौत हो गई है.