इतिहास में पहली बार 'पैलेस ऑन व्हील्स' फुल होकर पहुंची जयपुर, जोरशोर से हुआ स्वागत

ऑस्टेलिया के 41 सदस्यों का ग्रुप शाही ट्रेन से दिल्ली से जयपुर पहुंचा. शाही ट्रेन में ये पहली बार है जब सभी 41 केबिन फुल होकर आए हैं. इन पर्यटकों का 7 दिवसीय राजस्थान के मुख्य पर्यटक स्थलों पर भ्रमण करवाया जाएगा.

इतिहास में पहली बार 'पैलेस ऑन व्हील्स' फुल होकर पहुंची जयपुर, जोरशोर से हुआ स्वागत

जयपुर: इतिहास में पहली बार पैलेस ऑन व्हील्स के 41 केबिन, पर्यटकों से फुल होकर जयपुर पहुंची. गांधी नगर रेलवे स्टेशन पर पर्यटन विभाग की ओर से राजस्थानी ठाठ—बाठ से स्वागत किया गया. गांधीनगर स्टेशन पर रंगोली और कच्छी घोड़ी, बैंड वादन के साथ पर्यटकों को तिलक और माला पहनाकर स्वागत किया गया. इस दौरान पर्यटकों ने बैंड वादन की धून पर डांस भी किया. इस दौरान रेलवे विभाग और पर्यटन विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहे.

ऑस्टेलिया के 41 सदस्यों का ग्रुप शाही ट्रेन से दिल्ली से जयपुर पहुंचा. शाही ट्रेन में ये पहली बार है जब सभी 41 केबिन फुल होकर आए हैं. इन पर्यटकों का 7 दिवसीय राजस्थान के मुख्य पर्यटक स्थलों पर भ्रमण करवाया जाएगा. जिनमें पर्यटकों का पहला भ्रमण जयपुर के अल्बर्ट हॉल, जंतर—मंतर, हवामहल और आमेर फोर्ट और हाथी की सवारी रहती है.
 
जिसके बाद दूसरे दिन सवाईमाधोपुर की सेंचुरी और चित्तौड़गढ़ का भ्रमण रहता है. शाही ट्रेन से तीसरे दिन उदयपुर भ्रमण रहता है. चौथे दिन का टूर जैसलमेर पहुंचेगा. जहां पर्यटकों का उंटों को सजाकर स्वागत किया जाएगा. 

शाम को कल्चर डांस, सांस्कृतिक कार्यक्रम और धोरो में पर्यटक डांस कर प्रफ्फूलित किया जाता है. पांचवे दिन जोधपुर में मारवाड़ी साज और सज्जा से पर्यटकों का स्वागत होता है. छठे दिन भरतपुर और आगरा में भ्रमण करवाया जाता है. भ्रमण के अंतिम दिन सातवें दिन पर्यटकों को शाही ट्रेन से वापस दिल्ली छोड़ दिया जाएगा.

बता दें, शाही ट्रेन के केबिन में प्रति व्यक्ति के सफर के लिए 850 डॉलर प्रतिदिन खर्चा देना होता है. यदि कप्पल शाही ट्रेन के एक केबिन में सफर करते है तो उसके लिए 1300 डॉलर प्रति दिन के देने होते है. वहीं इंडिया का लोकल पर्यटक शाही ट्रेन में सफर करता है तो उसके लिए भी यही सरजार्च लगाया जाता है. एक लोकल व्यक्ति के लिए केबिन में सफर के लिए 6 लाख रूपए से अधिक चार्ज लगता है तो कप्पल का 9.50 लाख रूपए साप्ताहिक के रूप में चार्ज लगता है. शाही ट्रेन में खर्चा शामिल होता है इस चार्ज में पर्यटन विभाग की ओर 7 दिवस में पर्यटकों के भ्रमण में गाइड, टिकट, कैमरा चार्ज, भोजन शामिल है. इसके लिए मदिरा पान, ब्यूटी पार्लर, स्पा का चार्ज अतिरिक्त है.