बीसलपुर बांध पर फिश एक्वेरियम बनकर तैयार, अब उद्घाटन का इंतजार

बीसलपुर बांध पर पर बने इस एक्वेरियम में रंगीन मछलियों के लिए एक प्रजनन केंद्र भी बनाया गया है. 

बीसलपुर बांध पर फिश एक्वेरियम बनकर तैयार, अब उद्घाटन का इंतजार
एक्वेरियम के जरिये बिक्री की भी व्यवस्था की जाएगी.

जयपुर: टोंक जिले के बीसलपुर बांध (Bisalpur Dam) पर पर्यटकों के लिए मतस्य विभाग का फिश एक्वेरियम बनकर तैयार है. 3 करोड़ रुपये की लागत से बना मछली उत्कृष्ठता केंद्र उद्घाटन की बाट जोह रहा है. यहां रोजाना पर्यटक तो आते हैं लेकर गेट पर ताला लटका देखा वापस लौट जाते हैं.

प्रदेश के किसी बांध पर बनने वाला पहला रंगीन मछली केंद्र जिसमें करोड़ों रुपये खर्च हुए हैं. इस सजावटी मछली एक्वेरियम गैलरी और प्रजनन केंद्र का शिलान्यास पूर्ववर्ती वसुंधरा सरकार के समय तत्कालीन कृषि, पशुपालन मत्स्य मंत्री प्रभुलाल सैनी ने 31 अक्टूबर 2015 को किया था. इसके बाद चार साल में यह 31 अक्टूबर 2019 को एक्वेयरियम पूरी तरह से बनकर तैयार हो चुका है. इस एक्वेयरिम में 16 दुलर्भ प्रजाति की रंग-बिरंगी मछलियां हैं, जिन्हें 16 विभिन्न गैलरी में रखा गया है. पर्यटकों के लिए यहां टिकट की व्यवस्था की गई है. जानकारी के अनुसार, सरकार इसे पीपीपी मोड पर चलाएगी, जिससे इसका रखरखाव अच्छी तरीके से हो सकेगा. 

बीसलपुर बांध पर पर बने इस एक्वेरियम में रंगीन मछलियों के लिए एक प्रजनन केंद्र भी बनाया गया है. जहां पर अत्याधुनिक तरीके से यहां पर प्रदर्शित मछलियों के प्रजनन की व्यवस्था की जाएगी. साथ ही एक्वेरियम के जरिये बिक्री की भी व्यवस्था की जाएगी. इनका निर्यात विदेशों में भी किया जाएगा. गैलेरी पर्यटन को बढ़ावा देने के साथ ही स्टूडेंट्स को मछली के बारे में जानकारी देने में कारगर साबित होगी.