राजस्थान: CM के आदेश पर जनता के बीच पहुंचे अधिकारी, रोज 8 हजार लोगों को दे रहे खाना

सीएम के आदेशों के बाद अधिकारियों की गाड़ियां कच्ची बस्ती, फुटपाथ पर रहने वाले लोगों के बीच पहुंच रही है.

राजस्थान: CM के आदेश पर जनता के बीच पहुंचे अधिकारी, रोज 8 हजार लोगों को दे रहे खाना
गहलोत सरकार लगातार बीमारी से बचाव के लिए एहतियातन कदम उठा रही है.

जयपुर: राजस्थान में लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान जरूरतमंदों को खाना मुहैया करवाने के लिए जिला प्रशासन, नगर निगम और मंदिर ट्रस्ट सहित कई सामाजिक संगठन आगे आने लगे हैं. इस बीच, नगर निगम की ओर से स्लम एरिया में रहने वाले लोगों की सूची बनाई जा रही है. जिससे की उनकों ड्राई खाना (कच्चा सामान ) पहुंचाया जा सके.

वहीं, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) के आदेशों के बाद अधिकारियों की गाड़ियां कच्ची बस्ती, फुटपाथ पर रहने वाले लोगों के बीच पहुंच रही है. इस दौरान लोगों से पूछा जा रहा है कि उनकों खाना मिल रहा है या नहीं. साथ ही जिनके पास घर है, लेकिन वो दिहाड़ी मजदूरी करके अपना पेट पालता है उनको ड्राई फूड आटा, चावल, दाल, तेल, मसाले का किट दिया जाएगा.

इधर, नगर निगम आयुक्त वीपी सिंह ने कहा की करीब जयपुर शहर में 93 लोकेशन पर सुबह और शाम 8-8 हजार लोगों को भोजन पहुंचाया जा रहा है. बता दें कि देश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के बीच केंद्र सरकार ने बुधवार से पूरे देश में 14 अप्रैल तक लाकडाउन (Lockdown) कर दिया है. इस दौरान आवश्यक सेवाओं को छोड़कर सभी चीजों पर प्रतिबंध हैं.

वहीं, केंद्र एंव राज्य की तरफ से बार-बार लोगों को बताया जा रहा है कि लॉकडाउन के दौरान किसी भी आवाश्यक वस्तुओं के साथ खाने-पीने की कोई कमी नहीं होगी. सरकार लोगों की मदद के लिए हम संभव प्रयास में जुटी है. इतना ही नहीं, राजस्थान की अशोक गहलोत सरकार लगातार बीमारी से बचाव के लिए एहतियातन कदम उठा रही है.

बता दें कि, गुरुवार को राजस्थान में दो नए कोरोना वायरस संक्रमित मरीजों की पुष्टि हुई है, जिसके बाद अब यहां इस घातक वायरस के मरीजों की संख्या 40 पर पहुंच गई है. अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहित कुमार सिंह ने बताया कि एक मरीज 45 वर्षीय है और जयपुर का रहने वाला है. वहीं दूसरा, 35 वर्षीय मरीज झुंझनू का है. खबर के मुताबिक, दोनों मरीजों ने पश्चिम एशिया की यात्रा की थी. इन दोनों जगहों पर इन मरीजों के सीधे संपर्क में आए लागों को खोजा जा रहा है.