राजस्थान: स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 को लेकर जयपुर नगर निगम ने की तैयारी शुरू

कार्यवाहक महापौर मनोज भारद्धाज ने निगम के कारिंदो के साथ शहरी स्थिति का जायजा लिया, जिसकी शुरूआत वीआईपी इलाकों से की गई. 

राजस्थान: स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 को लेकर जयपुर नगर निगम ने की तैयारी शुरू
स्वच्छता सर्वेक्षण 2018 में 39वीं रैंकिंग लाने वाला जयपुर शहर के नगर निगम ने इस साल के लिए भी तैयारी शुरू कर दी है. (फाइल फोटो)

जयपुर: भारत सरकार के द्वारा शुरू किया गया स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 को लेकर जयपुर नगर निगम ने भी तैयारी शुरू कर दी है. शनिवार को महापौर मनोज भारद्धाज और नगर निगम आयुक्त ने शहरभर में भ्रमण कर किया है. 

इस दौरान सुबह में जयपुर के कार्यवाहक महापौर मनोज भारद्धाज ने निगम के कारिंदो के साथ शहरी स्थिति का जायजा लिया. जिसकी शुरूआत वीआईपी इलाकों से की गई. जवाहर सर्किल पहुंचे महापौर ने वहां सफाई की व्यवस्था भी देखी. 

हालांकि महापौर केवल उन इलाकों में भी पहुंचे जहां पहले से सफाई की गई थी. इसके बावजूद भी नारायण सिंह सर्किंल, गांधी नगर रेलवे स्टेशन सहित कई जगह गंदगी का आलम देखा गया. इस दौरान  स्वच्छता से जुडे आला अधिकारी सफाई निरीक्षण के दौरान कम ही संजीदा दिखें.

आपको बता दें कि, जयपुर नगर निगम का ओडीएफ की सफलता के दावा करता हो लेकिन, खुले में आज भी हो रही शौच से फैली गंदगी का दावा भी फेल होता नजर आ रहा है. जयपुर शहर के बस स्टैंड सहित कई बाजारों में शौचालय की स्थिति बडी खराब दिख रही है. 

एसएमएस अस्पताल के बाहर सफाई के लिए खड़े थैलों को देखकर निगम कमिश्नर ने अधिकारीयों को सफाई करवाने के निर्देश भी दिए. साथ ही बाजारों में प्लास्टिक केरी बैग के उपयोग पर सख्ती करने और चालान करने के भी निर्देश दिए. आपको बता दें कि, स्वच्छता सर्वेक्षण के नाम पर शहर के दौरे पर निकले अफसरों का दौरा आज शहर में चर्चा का विषय बना रहा. 

बहरहाल स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 के तहत देश के 4237 शहरों के बीच कड़ी परीक्षा शुरू हो चुकी है. लेकिन राजधानी के बाजारों की स्थिति और नगर निगम की कार्य प्रणाली देख कर लगता है की इस बार शहर की 39 वीं रैकिंग को बरकारार रख पाना भी निगम प्रशासन के लिए किसी चुनौती से कम नही. ऐसे में देखना दिलचस्प होगा की कार्यवाहक महापौर मनोज भारद्धाज इस चुनौती से कैसे नगर निगम की नैया पार लगा पाते है.