close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

जयपुर के ईदगाह और परकोटे में हालात सामान्य होने के बाद कम की जाएगी फोर्स

परकोटे में हुए उपद्रव के बाद राजधानी के 15 थाना इलाकों में धारा 144 भी लागू कर दी गई. जिसे देखते हुए भी बड़ी संख्या में अतिरिक्त फोर्स इलाकों में तैनात की गई थी.

जयपुर के ईदगाह और परकोटे में हालात सामान्य होने के बाद कम की जाएगी फोर्स
परकोटा में हिंसा भड़काने वाले 250 उपद्रवियों को पुलिस ने चिन्हित कर लिया है.

शरद पुरोहित/जयपुर: राजधानी के ईदगाह और परकोटे में हुए उपद्रव के बाद वहां पर लगाई गई अतिरिक्त फोर्स को अब आला अधिकारी धीरे-धीरे कम करेंगे. हालांकि अभी आगामी कुछ दिनों तक अतिरिक्त फोर्स इलाके में तैनात रहेगी और पूरी तरह से हालात सामान्य होने के बाद फोर्स में कमी की जाएगी.

बता दें कि जयपुर के गलता गेट व आसपास के इलाके में उपद्रव के बाद एसटीएफ की अनेक टुकड़िया, आरएसी की बटालियन और इसके साथ ही पुलिस लाइन से अतिरिक्त जाब्ता कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए तैनात किया गया था. इसके साथ ही परकोटे में हुए उपद्रव के बाद राजधानी के 15 थाना इलाकों में धारा 144 भी लागू कर दी गई. जिसे देखते हुए भी बड़ी संख्या में अतिरिक्त फोर्स इलाकों में तैनात की गई. 

हालांकि दोनों पक्षों से हुई समझाइश और शांति समिति के साथ हुई बैठकों के बाद अब इलाके में हालात सामान्य हैं. जिसे देखते हुए आगामी दिनों में पुलिस के आला अधिकारियों ने इलाके में तैनात की गई अतिरिक्त फोर्स को धीरे-धीरे कर कम करने का निर्णय लिया है. इलाकों में तैनात की गई फोर्स के जवानों को एक निश्चित संख्या के अंतर्गत वहां से हटाया जाएगा और पुलिस के आला अधिकारी भी इलाकों पर लगातार अपनी निगाह बनाए हुए हैं.

राजधानी के गलता गेट और परकोटा में हिंसा भड़काने वाले 250 उपद्रवियों को पुलिस ने चिन्हित कर लिया है. बता दें कि सीसीटीवी कैमरों की फुटेज के आधार पर पुलिस ने उपद्रवियों को चिन्हित किया है. जिनके खिलाफ पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है और 140 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया गया है. वहीं क्षेत्र में हिंसा भड़काने वाले तकरीबन 19 लोगों को विभिन्न सख्त धाराओं के तहत गिरफ्तार कर उनके खिलाफ कार्रवाई की गई है.

एडिशनल पुलिस कमिश्नर संतोष चालके ने बताया कि जिन भी लोगों ने हिंसा भड़काई है उन पर सख्त कार्रवाई की जाएगी. जिसके लिए पुलिस की स्पेशल टीम का गठन किया गया है. हिंसा भड़काने वाले लोगों को चिन्हित कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जा रही है और पुलिस के आला अधिकारी लोगों को हिंसा भड़काने वाले लोगों के झांसे में नहीं आने की अपील भी कर रहे है.