धौलपुर में वन विभाग ने 30 ट्रॉली चंबल बजरी को किया जब्त

चंबल लिफ्ट परियोजनाका निर्माण कर रही संबंधित फर्म के खिलाफ मामला दर्ज कराया जा रहा है. करीब 30 ट्रॉली चंबल बजरी को बरामद किया है.  

धौलपुर में वन विभाग ने 30 ट्रॉली चंबल बजरी को किया जब्त
पुलिस ने करीब 30 ट्रॉली चंबल बजरी को बरामद किया.

भानु शर्मा/धौलपुर: राजस्थान के धौलपुर जिले की वन विभाग की टीम ने पुलिस के सहयोग से कार्रवाई करते हुए, निर्माणधीन चंबल लिफ्ट परियोजना पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) द्वारा प्रतिबंधित चंबल बजरी के भारी स्टॉक को बरामद किया है. चम्बल घड़ियाल अभ्यारण क्षेत्र में चंबल बजरी का दोहन किया जा रहा था. जिसे लेकर वन विभाग की टीम ने कार्रवाई को अंजाम दिया है.

चंबल लिफ्ट परियोजनाका निर्माण कर रही संबंधित फर्म के खिलाफ मामला दर्ज कराया जा रहा है. करीब 30 ट्रॉली चंबल बजरी को बरामद किया है. इसके अलावा शेष बचे चंबल बजरी को खुद बुर्द किया है. अचानक वन विभाग द्वारा पुलिस के सहयोग से की गई कार्रवाई से प्रोजेक्ट के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया.

bharatpur

   
वन विभाग के रेंजर बंगाली बाबू ने बताया कि धौलपुर शहर के शेरगढ़ के किले के पास चंबल लिफ्ट परियोजना का निर्माण किया जा रहा है. निर्माण करा रही फर्म निर्माण कार्य में सुप्रीम कोर्ट द्वारा प्रतिबंधित चंबल बजरी का उपयोग कर रही है. चम्बल घड़ियाल अभ्यारण प्रतिबंधित क्षेत्र में फर्म प्रोजेक्ट का निर्माण करा रही फर्म द्वारा चम्बल बजरी का दोहन कराया जा रहा है.

मुखबिर की सूचना पर मामले की जानकारी हासिल की गई. जिसमें मामला सही पाया गया. जिस पर वन विभाग की टीम ने पुलिस बल को साथ लेकर चंबल लिफ्ट परियोजना प्रोजेक्ट पर छापेमार कर कार्रवाई को अंजाम दिया. प्रोजेक्ट पर करीब 30 ट्रॉली अनाधिकृत तरीके से चंबल बजरी का स्टॉक किया हुआ था.

वहीं, जेसीबी मशीन के सहयोग से करीब 30 ट्रॉली चंबल बजरी को जप्त किया है. इसके अलावा शेष बचे बालू को खुर्द बुर्द करा दिया है. वन विभाग एवं पुलिस द्वारा संयुक्त की गई कार्रवाई से चंबल परियोजना के कर्मचारियों में हड़कंप मच गया. वन विभाग द्वारा चंबल लिफ्ट परियोजना का काम करा रही फर्म के खिलाफ अभियोग दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी हैं.