धौलपुर: वन विभाग की टीम पर खनन माफियाओं का हमला, दो वनकर्मी गंभीर घायल

धौलपुर जिले के गांव बद्दूपुरा के जंगलों में अनाधिकृत तरीके से अवैध खनन कर रहे एक दर्जन खनन माफियाओं ने लाठी डंडो और हथियारों से लैस होकर वन विभाग की टीम पर हमला बोल दिया.

धौलपुर: वन विभाग की टीम पर खनन माफियाओं का हमला, दो वनकर्मी गंभीर घायल
पुलिस खनन माफियाओं के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है.

भानु शर्मा, धौलपुर: राजस्थान के धौलपुर जिले के गांव बद्दूपुरा के जंगलों में अनाधिकृत तरीके से अवैध खनन कर रहे एक दर्जन खनन माफियाओं ने लाठी डंडो और हथियारों से लैस होकर वन विभाग की टीम पर हमला बोल दिया. खनन माफियाओं द्वारा किए गए हमले में वन विभाग के दो वन कर्मी चोटिल हो गए और वन विभाग द्वारा मौके से जप्त की गई जेसीबी मशीन को छुड़ाकर बेखौफ फरार हो गए. 

ये भी पढ़ें: पंचायत चुनाव को लेकर सरगर्मियां तेज, निर्वाचन विभाग ने जारी की अधिसूचना

हमले के बाद वन विभाग के कर्मचारियों ने आरोपी एक दर्जन खनन माफियाओं के खिलाफ बाड़ी सदर थाना पुलिस पर अभियोग दर्ज करवाया है. पुलिस खनन माफियाओं के खिलाफ मामला दर्ज कर कार्रवाई शुरू कर दी है.

वन विभाग की टीम ने बताया कि जरिए मुखबिर सूचना मिली कि डांग क्षेत्र के गांव बद्दूपुरा के जंगलों में खनन माफियाओं द्वारा जेसीबी मशीन द्वारा अनाधिकृत तरीके से खनन किया जा रहा है. मुखबिर की सूचना पर वन विभाग की टीम सरकारी गाड़ी से मौके पर पहुंची और मौके पर देखा तो जेसीबी मशीन का चालक अनाधिकृत तरीके से खनन कर रहा था. जिस पर मौके पर पहुंची वन विभाग की टीम ने जेसीबी मशीन के चालक देवेंद्र सिंह गुर्जर पुत्र सियाराम गुर्जर निवासी कुआं खेड़ा को हिरासत में ले लिया और साथ ही वन विभाग के कर्मचारियों ने जेसीबी मशीन को भी जप्त कर लिया. 

वन विभाग के कर्मचारियों ने कार्यवाही कर जेसीबी मशीन पर नोटिस भी चस्पा कर दिए, लेकिन इसी दौरान तीन-चार बाइकों पर सवार करीब एक दर्जन खनन माफिया लाठी-डंडों एवं हथियारों से लैस होकर मौके पर पहुंच गए. जिन्होंने पहुंचते ही वन विभाग के कर्मचारियों पर हमला कर दिया. खनन माफियाओं ने वन विभाग की सरकारी गाड़ी को भी तोड़ दिया. खनन माफियाओ द्वारा किए गए हमले में वन विभाग के वनरक्षक हरविंदर सिंह और वनरक्षक रतीराम चोटिल हो गए. 

खनन माफिया जेसीबी मशीन चालक और मशीन को छुड़ा कर मौके से फरार हो गए. वन विभाग के कर्मचारियों ने एक दर्जन खनन माफियाओं के खिलाफ बाड़ी सदर थाना पुलिस के पर मामला दर्ज कराया है. पुलिस ने मामला आईपीसी की धारा 332, 353, 336, 382 व 3 पीडीपीपी एक्ट में अभियोग पंजीकृत कर लिया है और चोटिल वन कर्मियों का मेडीकल कराकर खनन माफियाओं की गिरफ्तारी के लिए टीम गठित कर आरोपी खनन माफियाओं की गिरफ्तारी के प्रयास शुरू कर दिए हैं.

ये भी पढ़ें: राजस्थान में आ गई 'नई पर्यटन नीति', इन्वेस्टमेंट को अट्रैक्ट करने का बना खास रोडमैप