धौलपुर: चम्बल नदी पर घूमने गए थे चार दोस्त, हुआ कुछ ऐसा की मच गया हाहाकार

धौलपुर जिले की चंबल नदी में नहाने कूदे दो युवक पानी के तेज बहाव में बह गए. 

धौलपुर: चम्बल नदी पर घूमने गए थे चार दोस्त, हुआ कुछ ऐसा की मच गया हाहाकार
पानी की रफ्तार काफी तेज होने पर दोनों युवक बहने लगे.

धौलपुर: राजस्थान के धौलपुर जिले की चंबल नदी में नहाने कूदे दो युवक पानी के तेज बहाव में बह गए. घटना की जानकारी जैसे ही स्थानीय प्रशासन को हुई तो हड़कंप मच गया. मौके पर प्रशासनिक अधिकारी एवं पुलिस बल पहुंच गया. एसडीएम धीरेंद्र सिंह के नेतृत्व में दोनों युवकों का पानी से निकालने के लिए रेस्क्यू अभियान चलाया, लेकिन दोनों युवकों का पता नहीं लग सका है. 

ये भी पढ़ें: गोविंद देव जी मंदिर प्रशासन ने DM को लिखा पत्र, दर्शन के लिए करना होगा इंतजार!

स्थानीय गोताखोर नाव द्वारा नदी में लोहे के जाल डालकर दोनों युवकों को तलाशने का प्रयास कर रहे हैं. उधर दोनों युवकों के परिजनों में हाहाकार मचा हुआ है. घटनास्थल पर लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई है. चार दोस्त चम्बल नदी पर घूमने गए थे. जिनमें से दो युवक पानी में नहाने के लिए कूद गए.

दरअसल पूरा वाक्य यूं घटित हुआ कि शहर के रहने वाले चार दोस्त 16 वर्षीय रोहन यादव पुत्र मोहन सिंह यादव निवासी कायस्थ पाड़ा, 18 वर्षीय छोटू पुत्र मुरारी निवासी दमा पुरा मोहल्ला, 23 वर्षीय जावेद पुत्र सलीम निवासी दमा पुरा मोहल्ला एवं 16 बर्षीय चित्रांश शर्मा पुत्र बनवारी लाल शर्मा चंबल नदी पर घूमने गए थे. घटना के चश्मदीद जावेद ने बताया नदी पर पहुंचने के बाद चारों युवक पुराने पुल के नीचे बैठ गए, लेकिन रोहन यादव और छोटू दोनों जने पानी में नहाने की जिद करने लगे. च

श्मदीद ने बताया दोनों युवकों को नदी में नहीं नहाने के लिए काफी समझाया था, लेकिन दोनों जने नहीं माने, और कपड़े उतार कर नदी में कूद गए. पानी की रफ्तार काफी तेज होने पर दोनों युवक बहने लगे. चीखते चीखते दोनों युवक काफी दूर तक पानी में बह गए. उसके बाद दोनों जने नदी के गहरे पानी में डूब गए. घटनास्थल पर स्थानीय लोगों की भारी भीड़ जमा हो गई. लोगों ने घटना की सूचना कोतवाली थाना पुलिस को दी. सूचना पाकर मौके पर एसडीएम धीरेंद्र सिंह, सीओ सिटी देवी सहाय मीणा एवं थाना प्रभारी चंद्रभान सिंह मौके पर पहुंच गए. जिन्होंने स्थानीय गोताखोरों को बुलाकर नदी में डूबे दोनों युवकों को निकालने के लिए रेस्क्यू चलाया, लेकिन देर शाम तक दोनों युवकों का सुराग नहीं लग सका है. 

एसडीएम ने बताया प्रशासन के स्पेशल गोताखोरों को भी बुलाया जा रहा है. देर रात तक दोनों युवकों का सुराग नहीं लगा तो सुबह फिर से रेस्क्यू ऑपरेशन चलाया जाएगा. उधर दोनों लोगों के परिजनों में हाहाकार मचा हुआ है. परिजन चंबल नदी पर पहुंच गए हैं. जिन का रो रो कर बुरा हाल बना हुआ है.

ये भी पढ़ें: गहलोत सरकार पर सतीश पूनिया का हमला, कोरोना कु-प्रबंधन सरचार्ज का दिया तमगा