जयपुर: ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में लगे 'आजादी' के नारे

ज़ी लिटरेचर फेस्टिवल के दौरान जेएनयू के छात्रों द्वारा माहौल खराब करने की कोशिश की गई. 

जयपुर: ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में लगे 'आजादी' के नारे
डिग्गी पैलेस में चल रहे जेएलएफ में दोपहर में फ्रंट लॉन के बाहर यह हंगामा हुआ.

जयपुर: ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल में 'आजादी' के नारे लगे हैं. ज़ी जयपुर लिटरेचर फेस्टिवल के दौरान जेएनयू के छात्रों द्वारा माहौल खराब करने की कोशिश की गई. फेस्टिवल के दौरान छात्रों ने आजादी, आजादी के नारे लगाए. 

वहीं, समय रहते सुरक्षा एजेंसियों के सचेत हो जाने से उन्हें काबू में कर लिया गया. समय रहते जेएनयू के छात्रों को निजी सुरक्षा एजेंसी ने माहौल खराब करने से पहले ही रोक लिया. इस दौरान स्थानीय पुलिस की मदद से 5 छात्रों को हिरासत में लिया गया, जिन्हें कानूनी कार्यवाही पूरी करने के बाद पुलिस ने छोड़ दिया. छात्रों ने पुलिस अधिकारियोंं से भी उलझने की कोशिश करें, लेकिन पुलिस बल के चलते छात्रों को हिरासत में लिया गया.

डिग्गी पैलेस में चल रहे जेएलएफ में दोपहर में फ्रंट लॉन के बाहर यह हंगामा हुआ. वहां अचानक करीब आधा दर्जन से ज्यादा युवक आए और 'इंकलाब जिंदाबाद' और 'आज हमको चाहिए आजादी' के नारे लगाने लगे. हंगामे के दौरान युवकों ने सीएए और एनआरसी के विरोध में भी नारे लगाए. 

इससे वहां एक बारगी हड़कंप मच गया. युवकों को नारेबाजी करते देखकर सुरक्षा गार्ड और पुलिसकर्मी दौड़कर वहां गए और उनको पकड़ लिया. जिस समय युवक नारे लगा रहे थे, उससे वहां सेशन में आए श्रोता नाराज हो गए और वे छात्रों को पीटने दौड़े. पकड़े गए युवक खुद को जेएनयू से जुड़ा हुआ बता रहे हैं.