राजस्थान पुलिस को माफियाओं से दोस्ती पड़ सकती है भारी, CM गहलोत ने दिए ये आदेश

पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिला स्तर पर एसओजी की इकाइयां गठित की जा रही है, जिसका प्रभारी इंस्पेक्टर स्तर का अधिकारी होगा. साथ ही सीआईडी क्राइम ब्रांच को भी मजबूत बनाया जा रहा है.

राजस्थान पुलिस को माफियाओं से दोस्ती पड़ सकती है भारी, CM गहलोत ने दिए ये आदेश
मुख्यमंत्री कार्यालय में आयोजित बैठक में गृह विभाग और पुलिस के आला अफसर मौजूद थे.

विष्णु शर्मा/जयपुर: राजस्थान में संगठित माफियाओं के खिलाफ अभियान चलाया जाएगा. इसके लिए जिला स्तर और राज्य स्तर पर विशेष टीमें गठित की जाएंगी. मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज यानी की मंगलवार को उच्च स्तरीय बैठक में यह निर्देश दिए.

मुख्यमंत्री कार्यालय में आयोजित बैठक में गृह विभाग और पुलिस के आला अफसर मौजूद थे. मुख्यमंत्री गहलोत ने स्पष्ट किया कि सरकार किसी भी तरह की कोताही बर्दाश्त नहीं करेगी. मुख्यमंत्री ने संगठित माफिया के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप और क्राइम ब्रांच को मजबूत करने के निर्देश दिए. उन्होंने माफिया के खिलाफ कार्रवाई के लिए गठित टीमों में शामिल पुलिस अधिकारियों को एवं कांस्टेबलों को अलग से प्रशिक्षण देने के निर्देश दिए.

जिला स्तर पर एसओजी इकाइयां
बैठक के दौरान पुलिस अधिकारियों ने बताया कि जिला स्तर पर एसओजी की इकाइयां गठित की जा रही है, जिसका प्रभारी इंस्पेक्टर स्तर का अधिकारी होगा. साथ ही सीआईडी क्राइम ब्रांच को भी मजबूत बनाया जा रहा है.

कई प्रकार के गिरोह हैं सक्रिय
डीजीपी भूपेंद्र यादव ने बताया कि प्रदेश में भू माफिया, बजरी माफिया, मानव तस्करी, मिलावट खोर माफिया, भर्ती एवं कोचिंग माफिया, नकली दवा सप्लाई माफिया, फर्जी बीमा गिरोह, सीमांत क्षेत्रों में पशुधन चोरी माफिया सक्रिय हैं. इसके अलावा सोशल मीडिया के माध्यम से ब्लैकमेल करने वाले और फर्जी मुकदमा दर्ज करवा कर ब्लैकमेल करने वाले गिरोह सक्रिय हैं.

मुख्यमंत्री ने डीजीपी को निर्देश दिए कि इस संबंध में विभिन्न रेंज के प्रभारी एडीजी, रेंज आईजी और जिले के पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर जमीनी स्तर पर कार्य योजना बनाएं.

बर्खास्तगी तक संभव
मुख्यमंत्री ने पुलिस अथवा किसी सरकारी विभाग अधिकारियों के अपराध में शामिल होने की शिकायत पर सख्त कार्रवाई करने के निर्देश दिए. जरूरत पड़ने पर दोषी अधिकारी-कर्मचारियों को निलंबित और बर्खास्त करने के भी निर्देश दिए.