कोरोना काल में गहलोत सरकार ने किया अच्छा काम, कर सकती थी बेहतर: गजेंद्र सिंह शेखावत

बड़े काम को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार राज्यों के साथ मिलकर काम कर रही है. उसमें खासकर राजस्थान को लेकर चुनौती और बड़ी है. 

कोरोना काल में गहलोत सरकार ने किया अच्छा काम, कर सकती थी बेहतर: गजेंद्र सिंह शेखावत
कोरोना को लेकर राजस्थान सरकार ने अच्छा काम किया.

मनोहर विश्नोई, दिल्ली: ज़ी राजस्थान का विमर्श कार्यक्रम केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने अपने विचार रखे. सीएम के साथ वीसी में नहीं जोड़ने के सवाल के जवाब में शेखावत ने कहा कि इस विषय के बारे में मुझे समय पर सूचित नहीं किया गया और केंद्रीय गृह मंत्री के साथ में अर्जेंट मीटिंग में होने के कारण नहीं जुड़ पाया लेकिन इस विषय को लेकर जो राजनीति करना चाहते हैं, उनको भगवान सद्बुद्धि दे.

बतौर जोधपुर सांसद मेरे जो कर्तव्य थे, वह मैंने बड़ी ईमानदारी और शिद्दत के साथ में निभाए. साथ ही जोधपुर के लिए जो काम राज्य सरकार की ओर से होने चाहिए और न ही हुए. उस पर मैंने सवाल उठाए. जो मेरी एक सांसद के नाते ड्यूटी थी.

जनशक्ति मंत्री होने के नाते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के सपने को साकार करने के लिए हर घर को पानी पहुंचाने के संकल्प पूरा करने के लिए जुटे हुए हैं. हमारा देश दुनिया की दुनिया की सबसे बड़ी आबादी वाला दूसरा देश है, जहां पीने की पानी की उपलब्धता केवल 4% है, इसलिए हमारे लिए चुनौती बड़ी है लेकिन हमारे प्रधानमंत्री के नेतृत्व में इस चुनौती को भी सफलतापूर्वक पार करेंगे.

राज्य सरकार नहीं खर्च कर रही पैसे
इस बड़े काम को पूरा करने के लिए केंद्र सरकार राज्यों के साथ मिलकर काम कर रही है. उसमें खासकर राजस्थान को लेकर चुनौती और बड़ी है. हमने हर घर के पानी योजना के लिए केंद्र सरकार से जो पैसा राज्य को भेजा, उसमें से 80% पैसा राज्य सरकार ने अब तक खर्च नहीं किया है. 

राजस्थान में करीब 80 लाख पानी के कनेक्शन देने थे, जिसमें हर साल 16 लाख कनेक्शन करने का लक्ष्य तय किया गया था लेकिन 1 साल पूरा होने के बाद राजस्थान में मात्र 22 हजार कनेक्शन दे पाए हैं.

राजस्थान सहित देश के कई ऐसे राज्य हैं, जहां पर जल संकट बड़ा है. इसके लिए 6000 करोड़ रुपये की अटल भूजल योजना का शुभारंभ किया गया है. इसके तहत जन सहभागिता से ग्राउंडवाटर रिचार्ज करने का काम किया जा रहा है.
जल सरंक्षण के काम में मनरेगा को भी जोड़ा जा रहा है. मनरेगा में गरीब 100000 करोड़ रुपये का बजट है. उसमें से ₹65000 केवल जल सरंक्षण पर खर्च किए जाएंगे यह काम पंचायत राज मंत्रालय ग्रामीण विकास मंत्रालय और जल शक्ति मंत्रालय मिलकर के करेंगे. राजस्थान में पिछली वसुंधरा सरकार ने जल स्वावलंबन योजना के तहत बेहतरीन काम किया था, उस योजना का स्वरूप इस सरकार ने बदल दिया है. इसलिए मेरा सुझाव है कि कम से कम ऐसे संवेदनशील मुद्दों पर राजनीति से ऊपर उठकर काम करना चाहिए.

राजस्थान सरकार की तारीफ भी की 
कोरोना को लेकर राजस्थान सरकार ने अच्छा काम किया लेकिन इससे बेहतर काम भी कर सकती थी. राजस्थान सरकार हमने समय-समय पर सरकार को जरूरी सलाह दी साथी केंद्र सरकार और राज्य अन्य राज्यों की सरकारों ने भी अच्छा काम किया है.

जोधपुर एयरपोर्ट को लेकर किए गए प्रयासों के बारे में गजेंद्र सिंह ने कहा कि एयरपोर्ट अथॉरिटी ऑफ इंडिया को बजट जारी कर दिया गया है. जोधपुर में एक नए टर्मिनस का काम जल्दी पूरा होगा और जल्दी ही एक अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट के तौर पर जोधपुर का नाम जाना जाएगा.

आयुष्मान भारत योजना का भी किया जिक्र
कोरोना संकट के दौरान आयुष्मान भारत योजना ने काफी संबल प्रदान किया लेकिन दुर्भाग्य से राजस्थान के लोगों को इस योजना का लाभ नहीं मिल पाया क्योंकि यहां की कांग्रेस सरकार ने जानबूझकर लोकसभा चुनाव तक को लटकाए रखा. उसके बाद नाम परिवर्तित करके लागू करने की कोशिश की लेकिन जमीन पर राजस्थान की जनता को इसका लाभ नहीं पहुंच पाया है. प्रवासियों को लाने और ले जाने के लिए हमें राजनीति से ऊपर उठकर काम करना चाहिए था लेकिन बदकिस्मती यह रही कि हम इस संकट की घड़ी में भी राजनीति करते रहे. कभी रेल चालू करने को लेकर तो कभी बस है. उसे प्रवासियों को लाने और ले जाने को लेकर.