झींगा मछली पालकर चूरू के किसानों ने कमाए दस करोड़, विदेशों में बढ़ रही मांग

झींगा मछली पालन से जुड़े श्योपुरा के किसान बलवान ने बताया कि पिछले तीन चार साल से इस क्षेत्र के किसान इस व्यवसाय से जुड़े हुए हैं. 

झींगा मछली पालकर चूरू के किसानों ने कमाए दस करोड़, विदेशों में बढ़ रही मांग
यहां की झींगा मछली ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और खाड़ी देशों में पसंद की जा रही है.

नरेंद्र राठौड़, चूरू: विपरीत परिस्थितियों के बावजूद चूरू के किसानों ने अब मछली पालन को भी मुमकिन कर दिखाया है. जिले के श्योपुरा गांव के करीब 60 किसान इसका उत्पादन कर रहे हैं. पिछले सीजन में करीब 360 टन झींगा मछली यहां से सप्लाई की गई है. यहां की झींगा मछली ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका और खाड़ी देशों में पसंद की जा रही है.

झींगा मछली पालन से जुड़े श्योपुरा के किसान बलवान ने बताया कि पिछले तीन चार साल से इस क्षेत्र के किसान इस व्यवसाय से जुड़े हुए हैं. करीब 60 किसानों ने यह काम शुरू किया है और वे इससे अच्छी आय अर्जित कर रहे हैं. एक अनुमान के अनुसार, पिछले सीजन में करीब 10 करोड़ से अधिक की झींगा मछलियां यहां से एक्सपोर्ट हुई हैं. मछली के वजन के अनुसार 180 रुपये किलो से लेकर 600 रुपये किलो तक के भाव यहां मिल जाते हैं. 

18 घंटे पानी में एरियेटर चलाना होता
झींगा मछली पालन से जुड़े मनोज गोस्वामी ने बताया कि उन्होंने पिछले एक सीजन में करीब 28 लाख रुपये की मछलियां बेची हैं. उन्होंने बताया कि मछली पालन से जुड़े किसान अच्छी आय ले रहे हैं हालांकि इसके लिए देखरेख को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि दिन में करीब 18 घंटे पानी में एरियेटर चलाना पड़ता है, जिससे मछलियों को पूरी ऑक्सीजन और पोषण मिलता रहे. किसानों ने बताया कि क्षेत्रा का पानी खारा है लेकिन इसकी गुणवत्ता के मापदंड झींगा पालन के हिसाब से उत्तम हैं. पोषण बनाए रखने के लिए नियमित रूप से आवश्यक दवाएं पानी में डालते हैं. 

कृषि कनेक्शन उपलब्ध करवा दें तो अच्छा मुनाफा होगा
किसानों ने बताया कि फिलहाल बिजली कनेक्शन नहीं होने के कारण ज्यादातर किसान डीजल जेनरेटर से ही एरियेटर चला रहे हैं, जिसके कारण उनकी लागत ज्यादा आ रही है. यदि राज्य सरकार उन्हें बिजली के कृषि कनेक्शन उपलब्ध करवा दे तो अच्छा मुनाफा हो सकता है. 

किसानों ने बताया हरियाणा में खूब किसान झींगा मछली पालन कर रहे हैं तथा वहां सरकार की ओर से करीब 50 फीसदी सब्सिडी इस पर दी जा रही है. राजस्थान सरकार उन्हें बिजली और सब्सिडी दे तो काफी फायदा हो सकता है. 

क्या कहना है कांग्रेस नेता का
कांग्रेस नेता रियाजत खान ने झींगा मछली पालन से जुड़े किसानों को लेकर जिला प्रभारी सचिव तथा सहकारिता रजिस्ट्रार और जनसंपर्क आयुक्त डॉ. नीरज के पवन से मुलाकात की और उन्हें इस बारे में बताया. उन्होंने राज्य सरकार की ओर से यथायोग्य सहायता दिए जाने का भरोसा किसानों को दिलाया. खान ने बताया कि सरकार की ओर से प्रमोट किए जाने पर जिले के किसानों के लिए झींगा मछली पालन फायदमेंद साबित होगा.