Good News: राजस्थान सरकार ने छात्रवृत्ति के लिए बढ़ाई अंतिम तिथि

राष्ट्रीय स्तर की राजकीय मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं के पाठ्यक्रमों में प्रवेशित, अध्ययनरत शिक्षण संस्थाओं द्वारा उत्तर मैट्रिक छात्रवृति के आनलाईन आवेदन अब 28 फरवरी तक किए जा सकेंगे.

Good News: राजस्थान सरकार ने छात्रवृत्ति के लिए बढ़ाई अंतिम तिथि
जो अभ्यर्थियों आवेदन नहीं कर पाए वो छात्रवृत्ति के लिए 28 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं.

जयपुर/ आशीष चौहान: राजस्थान सरकार ने सरकारी छात्रवृत्ति के पात्र छात्र छात्राओं को राहत दी है. सरकार ने एक बार फिर से छात्रवृत्ति योजना का लाभ देने के लिए आवेदन की अंतिम तिथि बढ़ा दी है. अब तक जिन अभ्यर्थियों ने आवेदन नहीं किया है वो छात्रवृत्ति के लिए 28 फरवरी तक आवेदन कर सकते हैं. एक महीना आवेदन बढ़ाने पर सरकार की मंशा यही है कि सभी पात्र छात्र छात्राओं को लाभ मिल सके. प्रदेश के मूल निवासियों के लिए एससी, एसटी और ओबीसी वर्ग के राजकीय शिक्षण संस्थाओं के विद्यार्थियों को उत्तर मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना मिलती है.
 
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता विभाग के आयुक्त और शासन सचिव शुचि शर्मा ने बताया कि राजस्थान के मूल निवासियों के लिए अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, विशेष समूह योजना, अन्य पिछड़ा वर्ग, आर्थिक पिछड़ा वर्ग, विमुक्त, घुमन्तु, मुख्यमंत्री सर्वजन उच्च शिक्षा उत्तर मैट्रिक छात्रवृति योजनाओं में राज्य की राजकीय और निजी मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं, राज्य के बाहर की राजकीय, राष्ट्रीय स्तर की राजकीय मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थाओं के पाठ्यक्रमों में प्रवेशित, अध्ययनरत शिक्षण संस्थाओं द्वारा उत्तर मैट्रिक छात्रवृति के आनलाईन आवेदन अब 28 फरवरी तक किए जा सकेंगे.

उन्होंने बताया कि उत्तर मैट्रिक छात्रवृति हेतु विद्यार्थियों द्वारा पंजीकरण कर पेपरलेस आनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जनवरी थी. जिसे बढ़ाकर अब 28 फरवरी, 2019 कर दिया गया है. शिक्षण संस्थान को विद्यार्थियों द्वारा आनलाईन प्राप्त आवेदन पत्रों को स्वीकृतकर्ता अधिकारियों को अग्रेषित करने की अंतिम तिथि 15 मार्च कर दी गई है. नवीन छात्रवृति पोर्टल 2018-19 पर उत्तर मैट्रिक छात्रवृति योजनाओं में पेपरलेस आनलाईन आवेदन करने के लिए शिक्षण संस्थाओं और विद्यार्थियों के लिए विस्तृत दिशा-निर्देश विभाग की वेबसाइट पर देख सकते है.

सरकार द्धारा आवेदन की तारीख बढ़ाने के बाद लाखों छात्र छात्राओं को एक बार फिर से छात्रवृत्ति का मौका मिल सकेगा.