सरकारी डॉक्टर अब अपने क्लीनिक से भी लिख सकेंगे सरकारी दवा

चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग एक और बड़ी सौगात जनता को देने वाला है.जिसके जरिए अब सरकारी चिकित्सक अपने क्लीनिक से भी मरीजों के लिए सरकारी दवा लिख सकेंगे

सरकारी डॉक्टर अब अपने क्लीनिक से भी लिख सकेंगे सरकारी दवा
प्रतिकात्मक तस्वीर

जयपुर: जरूरतमंद मरीजों को मुख्यमंत्री निशुल्क दवा योजना का ज्यादा से ज्यादा लाभ मिल सके इसे लेकर गहलोत सरकार लगातार नई-नई कोशिशें कर रही है. इसी कड़ी में अब चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग एक और बड़ी सौगात जनता को देने वाला है.जिसके जरिए अब सरकारी चिकित्सक अपने क्लीनिक से भी मरीजों  के लिए सरकारी दवा लिख सकेंगे. जिससे गरीबों को रहात मिल सके.

जाहिर है मेडिकल सेवाओं में क्रांती के लिए गहलोत सरकार लगातार काम कर रही है. इसी दिशा में काम करते हुए मुख्यमंत्री निशुल्क योजना का लाभ ज्यादा से ज्यादा लोगों को मिल सके इसके लिए सरकार ने एक नया प्लान तैयार किया है.सरकार की नई योजना के तहत  घर पर मरीज देखने वाले सरकारी चिकित्सक अब अपने क्लीनिक से भी मरीजों के लिए निशुल्क दवा योजना के तहत आने वाली दवाइयां लिख सकेंगे.हेल्थ डायरेक्टर डॉक्टर केके शर्मा के मुताबिक इस प्रोजेक्ट को एक पायलट प्रोजेक्ट के रूप में प्रदेश में शुरू किया जाएगा अगर इस प्रोजेक्ट में सफलता मिलती है तो इसे आगे भी लागृ किया जाेगा

इस योजना के ट्रायल के लिए  प्रदेश के 5 जिलों से इस पायलट प्रोजेक्ट की शुरूआत की जाएगी.जिसमें बारा, धौलपुर, करौली, सिरोही और जैसलमेर जिलों को शामिल किया गया है. अगर इन जिलों में ये योजना कामयाब रहती है. तो आने वाले दिों में इसे प्रदेश के बाकी हिस्सों में भी लागू किया  जाएगा इस प्रोजेक्ट् के लिए डॉक्टरों को सरकारी पर्चियां भी मुहैया कराई जाएंगी ताकि निशुल्क दवा योजना के तहत आने वाली दवाओं को लिखा जा सके और मरीज इस पर्ची के जरिए किसी भी सरकारी अस्पताल से यह दवाइयां ले सकें .