close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान: राज्यपाल के मुताबिक इस तरीके से मिलेगी महिला सुरक्षा की सही जानकारी

यूपी के सीएम रहने के दौरान राजस्थान के वर्तमान राज्यपाल ने पुलिस कर्मियों के दिए सलाह को याद करते हुए एक कार्यक्रम में महिला सुरक्षा का पैमाना बताया.

राजस्थान: राज्यपाल के मुताबिक इस तरीके से मिलेगी महिला सुरक्षा की सही जानकारी
उन्होंने कहा कि पुलिस को मित्र बनना है.

जयपुर: राज्यपाल कल्याण सिंह ने कहा है कि अब भारत बदल रहा है. सामाजिक दायित्व व लोगों की सोच भी बदल रही है. आम लोगों की अक्सर शिकायत रहती है कि पुलिस मित्रवत् व्यवहार नहीं करती मगर अब हमें यह सोच बदलनी है. उन्होंने कहा कि पुलिस को मित्र बनना है. पुलिस को अपराधी, माफिया व साइबर क्राइम के खिलाफ लड़ना है और आम आदमी का मित्र बनकर दिखाना है. 

271 विद्यार्थियों को उपाधि एवं पदक प्रदान   
राज्यपाल कल्याण सिंह जोधपुर में सरदार पटेल पुलिस, सुरक्षा एवं दांडिक न्याय विश्वविद्यालय के प्रथम दीक्षांत समारोह में बोल रहे थे. इस दौरान 271 विद्यार्थियों को उपाधि एवं पदक प्रदान किये. पुलिस विश्वविद्यालय के साथ ही हम सभी के लिए आज का दिन महत्वपूर्ण है. ऎसी विद्या जहां आंतरिक सुरक्षा, कानून एवं शांति व्यवस्था के साथ हमारे समाज और गांवों की सुरक्षा करने वाले सीमा पर लड़ने वालों की तरह ही सम्मान के हकदार है. 

शिक्षक करवाएं निर्धारित पाठ्यक्रम का अध्ययन
हमारे विश्वविद्यालय युवा पीढ़ी के लिए ज्ञान अर्जन के केन्द्र है. शिक्षा के इन मंदिरों से ही देश के कर्णधार तैयार हो रहे हैं. शिक्षकों का आह्वान करते हुए राज्यपाल ने कहा कि शिक्षक छात्र-छात्राओं को निर्धारित पाठ्यक्रम का अध्ययन अवश्य करायें, लेकिन साथ ही उन्हें मानवता, सहनशीलता, सत्यता व ईमानदारी के पाठ भी पढ़ायें.

राज्यपाल ने कहा कि समाज में कानून व व्यवस्था को सुचारू रूप से सम्पादित करने, अपराध पर अंकुश लगाने एवं समाज को सुरक्षा का वातावरण देने में पुलिस की महती भूमिका होती है. इन लक्ष्यों को ध्यान में रखकर ही पुलिस विश्वविद्यालय की स्थापना की गई है. 

साइबर अपराधों में हो रही वृद्धि
निरन्तर बदलते हुए वैश्विक परिदृश्य में विश्वविद्यालयों के दायित्व बदल रहे है और जिम्मेदारियां भी बढ़ रही है. वर्तमान में चुनौतियों विशेषकर साइबर अपराध से संबंधित विषयों में विद्यार्थियों को दक्ष किया जाना आवश्यक है.

राज्यपाल ने कहा कि आधुनिक तकनीक के इस युग में साइबर जगत में अपराध बढ़ रहे हैं. सार्वजनिक उपक्रमाें, उद्योगों व्यावसायिक क्षेत्रों तथा देश की सुरक्षा से जुडे़ गंभीर मुद्दों में साइबर विशेषज्ञों को आगे बढ़कर पहल करनी होगी. महिला एवं बच्चों के प्रति होने वाले अपराध, यौन हिंसा, उत्पीड़न तथा लैंगिक असमानता की रोकथाम, किसी भी लोकतांत्रिक देश की सफलता के सूचकांक है.

समाज को सुरक्षा का वातावरण देने में पुलिस की महती भूमिका    
राज्यपाल ने स्मरण करते हुए बताया कि उत्तर प्रदेश का जब मैं मुख्यमंत्री था, तब पुलिस अधिकारियों ने पहली बैठक में मुझे बताया कि अपराधों में कमी हो रही है. पुलिस अधिकारियों से मैंने कहा कि मैं गांव का सामान्य आदमी हूं. मेरी सोच यह है कि फिल्म के दूसरे शो को देखने के बाद महिलाएं सुरक्षित अपने घर पहुंचे, ऎसा वातावरण यदि बन सकता है तो मैं समझूंगा प्रदेश की कानून एवं व्यवस्था अच्छी है. उन्होंने कहा कि इस पैमाने को ध्यान में रखकर पुलिस को कार्य करना होगा. 

कुलाधिपति विश्वविद्यालयों के प्रेरणा स्तंभ
पूर्व कुलपति एम.एल.कुमावत ने उन माता-पिता को बधाई देते हुए कहा कि जिन्होंने इस युवा संस्थान में अपना विश्वास दिखाकर अपने बच्चों को यहां दाखिला करवाया. उन्होंने कहा कि राज्यपाल के समय-समय पर विवेकपूर्ण सुझावों से हमारा समुचित मार्गदर्शन हुआ. समारोह को आईआईटी निदेशक शांतनु चौधरी ने भी संबोधित किया. कुलपति एन.आर.के. रेड्डी ने राज्यपाल एवं अन्य अतिथियों का स्वागत करते हुए कहा कि राज्यपाल कल्याण सिंह कुलाधिपति के रूप में विश्वविद्यालयों के प्रेरणा स्तंभ है.