गुर्जर समाज ने फिर बोला हमला, CM और पीसीसी चीफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग

आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन करने वाले गुजर्र समाज ने एक बार फिर हल्ला बोला है. 

गुर्जर समाज ने फिर बोला हमला, CM और पीसीसी चीफ के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग
फाइल फोटो

जयपुर: आरक्षण की मांग को लेकर आंदोलन करने वाले गुजर्र समाज ने एक बार फिर हल्ला बोला है. समान अपराध, समान न्याय को लेकर गुर्जर समाज के प्रतिनिधियों ने डीजीपी एमएल लाठर से मुलाकात की और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, पीसीसी चीफ समेत कांग्रेस प्रभारी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की. 

ये भी पढ़ें: आधार सेंटर को लेकर रिश्वत खेल का हुआ बड़ा खुलासा, जयपुर से दिल्ली तक जुड़े अधिकारियों के तार

गुर्जर आंदोलन (Gurjar Reservation) के सदस्य विजय बैंसला ने कहा कि गुर्जर समाज ने महापंचायत की. तो सरकार ने कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन बताते हुए मुकदमा दर्ज कर लिया गया. वहीं, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (CM Ashok Gehlot) ने होटल में विधायकों को एक साथ जमा किया था. इसके अलावा गोविंद सिंह डोटासरा (Govind Singh Dotasra) को पीसीसी चीफ बनाये जाने पर भारी संख्या में भीड़ इकट्ठा की गई थी. जहां कोरोना नियमों का पालन नहीं किया गया, लेकिन उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की गई. 

ऐसे में गुर्जर समाज 24 घंटे में इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग करता है. वहीं, दूसरी तरफ विजय बैंसला ने गुर्जर समाज के आंदोलन को लेकर कहा कि प्रदेश में 1 नवंबर से चक्का जाम किया जायेगा. प्रदेश में आंदोलन की जिम्मेदारी सरकार की होगी.

ये भी पढ़ें: 3 महीने की संविदा भर्ती के लिए उमड़ी बेरोजगारों की भीड़, कहा-जान से ज्यादा नौकरी की जरूरत