जयपुर: बढ़ती जनसंख्या पर बोले BJP नेता, कहा- 'नहीं चलेगा हम पांच, हमारे पच्चीस'

जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन के संरक्षक ज्ञानदेव आहुजा ने सभी तबकों से अपील करते हुए जनसंख्या वृद्धि पर लगाम लगाने की अपील की है.

जयपुर: बढ़ती जनसंख्या पर बोले BJP नेता, कहा- 'नहीं चलेगा हम पांच, हमारे पच्चीस'
ज्ञानदेव आहुजा बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक भी हैं.

जयपुर: देश में जनसंख्या विस्फोट को रोकने के लिए मंथन होने लगा है. इस दिशा में अब गैर सरकारी संगठन भी आगे आ रहे हैं. इसी कड़ी में जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन के संरक्षक ज्ञानदेव आहुजा ने सभी तबकों से अपील करते हुए जनसंख्या वृद्धि पर लगाम लगाने की अपील की है. आहुजा ने कहा कि सीमित होते संसाधनों के बीच सभी को बेतहाशा बढ़ती जनसंख्या रोकनी चाहिए. आहुजा ने कहा कि यह सभी पर लागू होता है. इस मामले में हम पांच-हमारे पच्चीस का कुतर्क नहीं चलेगा. आहुजा ने कहा कि जनसंख्या वृद्धि पर कन्ट्रोल के लिए उनका संगठन केन्द्र सरकार पर भी दबाव बनाएगा. 

सीमित संसाधनों के बीच बढ़ती हुई आबादी लम्बे समय से चिन्ता का कारण बनी हुई है. लेकिन अब इस दिशा में कोशिश करने वाले गैर सरकारी संगठन केन्द्र सरकारी संगठन सरकार पर दबाव बनाने की बात कर रहे हैं. फाउन्डेशन के संरक्षक ज्ञानदेव आहुजा ने कहा कि लोग सब जानते हैं कि जनसंख्या को अनियन्त्रित तरीके से बढ़ाने के लिए कौन ज़िम्मेदार है और कौन नहीं.

फाउन्डेशन के संरक्षक होने के साथ ही ज्ञानदेव आहुजा बीजेपी के प्रदेश उपाध्यक्ष और पूर्व विधायक भी हैं. ऐसे में जब उनसे यह सवाल किया गया कि खुद की पार्टी तक बात पहुंचाने के लिए दबाव की रणनीति आखिर क्यों अपनाई जा रही है. इस पर आहुजा ने कहा कि वे अपनी पार्टी को कहेंगे तो संभव है कि पार्टी उनकी बात पर पूरी तरह विचार भी करेगी. लेकिन इस मुद्दे पर जन-जागरूकता की ज़रूरत बताते हुए आहुजा कहते हैं कि अगर लोगों में जागरूकता होगी तो जनसंख्या रोकने के लिए लोग भी आगे आएंगे और सरकार को भी कानून बनाने के लिए मजबूर होना पड़ेगा. 

इस सिलसिले में रविवार को जनसंख्या समाधान फाउन्डेशन ने राजधानी मानसरोवर में एक सम्मेलन बुलाया है. इसमें केन्द्रीय मन्त्री गिरिराज सिंह के साथ ही हिमालय परिवार के इन्द्रेश कुमार भी शामिल होंगे. इस सम्मेलन में कई विधायक और सांसद भी शिरकत करेंगे. जनसंख्या पर कानून के लिए आहुजा ने कहा कि सरकार अब तक किसी फ़ैसले में और कानून बनाने में घबराई नहीं है. ऐसे में उन्हें इस बात की उम्मीद है कि सरकार जनसंख्या विस्फोट रोकने के लिए भी कानून ज़रूर बनाएगी. 

आहुजा कहते हैं कि जनसंख्या पर बात करते ही कई बार एक धर्म का विरोधी होने के आरोप लगाते हैं. लेकिन साथ ही वे यह भी कहते हैं कि जनसंख्या सीमित रहेगी तो सभी धर्मों के लोगों के लिए अच्छा होगा. इसलिए वे जात-पांत और मजहब से परे लोगों से बात करते हुए इस पर लगाम लगाने की बात कर रहे हैं.