राजस्थान चुनाव: हनुमान बेनीवाल के तीसरे मोर्चे की कवायत के बाद राज्य में सियासत तेज

बेनीवाल 29 अक्टूबर को महारैली कर नई पार्टी के गठन की घोषणा के साथ हीं तीसरे मोर्च के नेताओं को भी एक मंच पर लाने का प्रयास करेंगे.

राजस्थान चुनाव: हनुमान बेनीवाल के तीसरे मोर्चे की कवायत के बाद राज्य में सियासत तेज
निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल (फाइल फोटो)

दामोदर प्रसाद,जयपुर : प्रदेश में आगामी विधानसभा चुनावों से पहले सियासत तेज हो गई है. राज्य की भाजपा सरकार के खिलाफ लंबे समय से मोर्चा खोले निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने भाजपा व कांग्रेस पर निशाना साधते हुए विधानसभा चुनावों से ठीक पहले नई पार्टी के गठन करने की घोषणा कर दी है. बेनीवाल के इस घोषणा के बाद माना जा रहा है कि इससे राज्य में इस बाद चुनाव से पहले तीसरे मोर्चे के गठन का भी रास्ता साफ होगा.

बेनीवाल ने वसुंधरा सरकार पर लगाए आरोप

मीडिया से बातचीत के दौरान बेनीवाल ने भाजपा सरकार पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप भी लगाया. बेनीवाल ने कहा कि, ' वसुंधरा सरकार किसान व गरीब विरोधी है. वहीं राज्य सरकार की कार्यशैली के चलते ही प्रदेश में गरीब,किसान,युवा तो परेशान है वहीं महिलाओं के साथ अपराध भी तेजी से बढ़े है. 

कांग्रेस पर भी जमकर साधा निशाना

बातचीत के दौरान बेनीवाल ने कांग्रेस पार्टी पर भी जमकर निशाना साधा. बेनीवाल ने कहा, 'प्रदेश में भाजपा व कांग्रेस ने एक-दूसरे के भ्रष्टाचार पर पर्दा डालने का काम किया है. पूरे प्रदेश में वसुंधरा व गहलोत का गठजोड़ है, जिसके कारण प्रदेश के हालात काफी खराब हैं.'

तीसरे मोर्चे का राजनीतिक विकल्प राज्य की कवायत

चुनाव से पहले तीसरे मोर्चे के गठन के संबंध में  बेनीवाल ने साफ तौर कर कहा कि, ' प्रदेश के मौजूदा हालात को देखतें हुए राज्य में एक नया विकल्प चाहिए. हम प्रदेश को नया राजनीतिक विकल्प देंगे और इस बार तीसरे मोर्चे की सरकार प्रदेश में बनेगी.'

मीडिया से बातचीत के दौरान हनुमान बेनीवाल ने आगामी 29 अक्टूबर को प्रदेश में नई पार्टी के गठन की घोषणा की बात भी कही. उन्होंने कहा कि, '29 अक्टूबर को राजधानी जयपुर में किसान हुंकार महारैली का आयोजन होगा. जिसमें पूरे राज्य से 15 लाख लोग शामिल होंगे. 

बेनीवाल इस रैली में नई पार्टी के गठन के साथ ही  तीसरे मोर्च के नेताओं को एक मंच पर लाने का भी प्रयास करेंगे. आगामी विधानसभा चुनावों में गठबंधन पर बेनीवाल ने कहा कि, 'भाजपा व कांग्रेस के अलावा तमाम पार्टियां संपर्क में है. हमारी पार्टी प्रदेश में 50 सीटों पर चुनाव जीतेगी और गठबंधन बना तो सौ से ज्यादा सीटें मिलेगी.' 

रैली के माध्यम से करेंगे शक्ति प्रदर्शन 

बेनीवाल का दावा है कि 29 अक्टूबर को होने वाली उनकी महारैली देश की बड़ी रैलियों में शुमार होगी. जिसके लिए जगह तलाशने का काम बेनीवाल कर रहें हैं. बेनीवाल अपनी इस रैली के जरिए प्रदेश की समस्याओं को केंद्र सरकार के सामने रखने की बात भी कर रहें हैं.

लंबे समय से राज्य की भाजपा सरकार व कांग्रेस के खिलाफ मोर्चा खोलने वाले निर्दलीय विधायक हनुमान बेनीवाल ने विधानसभा चुनावों से पहले फिर दोनों पाटियों पर जमकर निशाना साधा है. बेनीवाल ने चुनावों से पहले प्रदेश में नए विकल्प की बात कर भाजपा व कांग्रेस की मुश्किलें बढ़ा दी है. वैसे इससे पहले भाजपा विधायक घनश्याम तिवाड़ी ने भी भाजपा से किनारा कर लिया था.