राजस्थान: स्पीकर द्वारा नोटिस केस में Pilot सहित अन्य MLAs का याचिका पर सुनवाई टली

अर्जी में कहा है कि दोनों पक्षों में राजनीतिक समझौता हो गया है. इसके अलावा याचिकाकर्ता पीआर मीणा सहित अन्य विधानसभा में विश्वास मत के समर्थन में अपना वोट दे चुके हैं.

राजस्थान: स्पीकर द्वारा नोटिस केस में Pilot सहित अन्य MLAs का याचिका पर सुनवाई टली
राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री हैं सचिन पायलट. (फाइल फोटो)

महेश पारिक/जयपुर: राजस्थान हाईकोर्ट (Rajasthan High Court) में सोमवार को पूर्व डिप्टी सीएम सचिन पायलट (Sachin Pilot) सहित उनके गुट के अन्य विधायकों को विधानसभा स्पीकर की ओर से नोटिस देने के मामले में लंबित याचिका को खारिज करवाने के लिए पेश अर्जी पर सुनवाई टल गई है. 

न्यायाधीश सबीना और न्यायाधीश प्रकाश गुप्ता की खंडपीठ ने अर्जी की कॉपी सभी पक्षकारों को देने के निर्देश देते हुए मामले की सुनवाई अब 8 मार्च को रखी है. याचिका के पक्षकार मोहनलाल नामा की ओर से अर्जी में कहा है कि दोनों पक्षों में राजनीतिक समझौता हो गया है. इसके अलावा याचिकाकर्ता पीआर मीणा सहित अन्य विधानसभा में विश्वास मत के समर्थन में अपना वोट दे चुके हैं.

ऐसे में उनकी विधानसभा और कांग्रेस में सदस्यता बरकरार रखने की प्रार्थना भी एक तरह से मंजूर हो चुकी है, इसलिए अब याचिका लंबित रखने का कोई औचित्य नहीं है और याचिका को न्याय हित में खारिज की जाए. प्रार्थना पत्र का मौखिक जवाब देते हुए पूर्व में महाधिवक्ता (Advocate General) ने अदालत को बताया था कि खंडपीठ ने इस मामले को संविधान की अनुसूची दस सहित दो कानूनी बिंदू तय करने के विचारार्थ रखा हुआ है.

ऐसे में जब तक इन कानूनी बिंदुओं पर फैसला नहीं होता, तब तक याचिका का निस्तारण नहीं किया जा सकता. दूसरी ओर स्पीकर के वकील का कहना है कि उन्हें इस प्रार्थना पत्र की कॉपी नहीं मिली है.  

ये भी पढ़ें-राजस्थान में गहलोत-पायलट के बीच गहराया विवाद! डैमेज कंट्रोल में जुटी कांग्रेस