उदयपुर: अंबामाता थाने में तैनात हेड कांस्टेबल घूस लेते ट्रेप, विभाग में मचा हड़कंप

हेड कांस्टेबल महेंद्र शर्मा की ओर से परिवादी से बंदी के रूप में रिश्वत लेने के मामले ने पुलिस महकमे चलने वाले मासिक बंदी की बातों को फिर से हवा दे दी है. 

उदयपुर: अंबामाता थाने में तैनात हेड कांस्टेबल घूस लेते ट्रेप, विभाग में मचा हड़कंप
महेंद्र ने कुछ दिन पहले जुआ खेलते नरेंद्र शर्मा को गिरफ्तार किया था. (प्रतीकात्मक फोटो)

अविनाश जगनावत, उदयपुर: जिले में पिछले पांच दिनों में दूसरी बार ख़ाकी पर रिश्वतखोरी के दाग लगे हैं. खेरवाड़ा थानाधिकारी के बाद एसीबी ने शहर के अंबामाता थाने में तैनात हेड कांस्टेबल को ट्रेप किया है, जिससे पूरे विभाग में हड़कंप मच गया है.

एसीबी एएसपी सुधीर जोशी की टीम ने शहर के अंबामाता थाने के हेड कांस्टेबल महेंद्र सिंह को 15 हजार रुपये रिश्वत लेते रंगे हाथों ट्रेप किया. 

दरअसल, महेंद्र ने कुछ दिन पहले जुआ खेलते नरेंद्र शर्मा को गिरफ्तार किया था. उसे डरा धमकाकर हेड कांस्टेबल महेंद्र सिंह 15 हजार रुपये की रिश्वत मांग रहा था. इसकी शिकायत परिवादी ने एसीबी को कर दी. शिकायत का सत्यापन होने के बाद एसीबी ने अपना जाल बिछा कर हेड कांस्टेबल को ट्रेप कर लिया.

बंदी ने उठाए सवाल
हेड कांस्टेबल महेंद्र शर्मा की ओर से परिवादी से बंदी के रूप में रिश्वत लेने के मामले ने पुलिस महकमे चलने वाले मासिक बंदी की बातों को फिर से हवा दे दी है. इस ट्रेप के बाद शहर में एक बार फिर से बंदी की मोटी रकम हर महीने आलाधिकारियों तक पहुंचाने की बातों को तूल दे दिया है. 

वहीं, एसीबी की टीम भी अब इस मामले में जांच कर रही है कि बंदी के इस खेल में ओर कौन-कौन शामिल है. साथ ही खाकी को दागदार करने वालों के बारे में भी जांच की जा रही है. यही नहीं, एसीबी की टीम पर्दे के पीछे के खेल को भी उजागर करने में जुट गई है.