close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: बारिश के कारण फसलों को हुआ भारी नुकसान, किसानों ने की मुआवजे की मांग

बारिश के कारण नुकसान हुए फसल के मुआवजे एवं किसानों से जुड़ी अन्य कई समस्याओं को लेकर किसानों ने एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया. 

कोटा: बारिश के कारण फसलों को हुआ भारी नुकसान, किसानों ने की मुआवजे की मांग
इस प्रदर्श में किसानों ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया

कोटा: राजस्थान में मुसलाधार बारिश का दौर जारी है. कई इलाकों में बरसात के कारण खेतों में पानी भर गया है. यहां तक कि कई निचले इलाकों में भी बारिश का पानी घुस गया है. प्रदेश में तेज बारिश के बाद खेतों में खड़ी फसल को भारी नुकसान हुआ है. वहीं नुकसान हुए फसल के मुआवजे एवं किसानों से जुड़ी अन्य कई समस्याओं को लेकर किसानों ने एसडीएम कार्यालय पर प्रदर्शन किया. 

इस प्रदर्श में किसानों ने बड़ी संख्या में हिस्सा लिया और जुलूस निकाल कर एसडीएम कार्यालय पहुंचे. किसानों ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा. बता दें कि क्षेत्र में गत दिनों हुई तेज बारिश के चलते हजारों हेक्टेयर की फसलें पानी से बरबाद हो गई. किसानों को अब सरकार से ही मुआवजे की आस है.

वहीं सांगोद कस्बे में भी तहसील क्षेत्र के बड़ी संख्या में किसान चैतन्य हनुमान मंदिर परिसर में एकत्रित हुए. यहां से सभी जुलूस के रूप में मुख्य मार्गों से होते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचे. इस दौरान किसानों ने हाथों में तख्तियां थामे जय जवान जय किसान, कौन बनाता हिन्दुस्तान, भारत का मजदूर किसान, नहीं किसी से भीख मांगते, हम अपना अधिकार मांगते जैसे नारों लगाते हुए प्रदर्शन किया. 

यहां भारतीय किसान संघ के प्रतिनिधिमंडल ने नुकसान का सर्वे कराने के साथ ही बीमा कंपनी से बीमा दिलाने की मांग की. प्रतिनिधिमंडल ने नुकसान का प्राकृतिक आपदा प्रबंधन समिति से किसानों को क्षतिपूर्ति दिलाने, पूर्व की भांति सहकारी ऋण उपलब्ध कराने, घरेलु और विद्युत बिल छह माह में दिए जाने जैसी कई समस्याओं के समाधान की आवाज उठाई.

बता दें कि हाल ही में राजस्थान कई हिस्सों में बारिश के कारण तालाब बांध और एनीकट ओवर फ्लो होकर टूट गए थे. जिससे कई निचले इलाकों में पानी भर गया था. कई क्षेतेरों के हालात ऐसे थे कि प्रशासन को चेतावनी भी देनी पड़ी. 

बारिश की वजह से सड़कें पानी में बह गई थी जिससे धांधोली पंचायत के कई गांवों का सम्पर्क टूट गया था. इस दौरान खेतों में भी पानी भर गया था. जिसके चलते किसानों के चेहरों पर भी चिंता की लकीरें छाने लग गई थी. वहीं कई जगह बरसात से सड़के गड्ढ़ों में तब्दील हो गई थी, जिससे राहगीरों को काफी समस्याओं का समान करना पड़ रहा था.