close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

कोटा: राम मंदिर पर सुप्रीम फैसले से पहले हर तरफ अलर्ट, सोशल मीडिया पर पुलिस की नजर

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट से इसी महीने फैसला आना है. देश के हर हिस्से में सरकारें हों या प्रशासन, सब अलर्ट हैं. कोटा पुलिस ने भी तैयारी कर ली है.

कोटा: राम मंदिर पर सुप्रीम फैसले से पहले हर तरफ अलर्ट, सोशल मीडिया पर पुलिस की नजर
रैपिड एक्शन फोर्स पूरे शहर में फ्लैग मार्च कर रही है.

कोटा: अगर आप सोशल मीडिया (Social Media) प्लेटफॉर्म पर एक्टिव रहते हैं. फेसबुक, व्हाट्सऐप पर खबरें शेयर करते हैं, तो ये खबर आपके लिए है. आपकी एक गलत पोस्ट आपको मुसीबत में डाल सकती है. इतना ही नहीं, आपको सलाखों तक के पीछे भी ले जा सकती है. 

दरसअल, इसी महीने दशकों पुराने राम मंदिर (Ram Mandir) और बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) विवाद मामले में सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) का फैसला आने वाला है. फैसले की तारीख़ नजदीक आने के साथ ही सुरक्षा एजेंसियां भी सक्रिय होने लगी हैं.

पुलिस मुख्यालय से मिले निर्देशों के बाद कोटा पुलिस (Kota Police) भी विशेष तैयारियां कर चुकी है. कोटा पुलिस ने एक एडवाइजरी भी जारी की है, जिसके तहत सोशल मीडिया (Social Media) पर कोटा पुलिस की एक विशेष टीम अगले कुछ दिनों तक निगरानी रखेगी. अगर किसी ने सोशल मीडिया पर किसी भी धर्म के खिलाफ टिप्पणी, आपत्तिजनक पोस्ट धार्मिक भावनाओं को भड़काने वाली पोस्ट या वीडियो शेयर की तो उसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी.

क्या कहना है सिटी एसपी दीपक भार्गव का
सिटी एसपी दीपक भार्गव के मुताबिक, कोटा पुलिस ने एक व्हाट्सएप्प नंबर भी जारी किया है. किसी भी तरह के आपत्तिजनक वीडियो अगर कोई भेजता है, तो वो वीडियो तुरंत पुलिस के व्हाट्सएप्प नंबर पर भेजे और स्वयं के मोबाइल से डिलीट कर दें. उसके बाद पुलिस इस वीडियो की पड़ताल भी करेगी. इसके अलावा अभय कमांड सेंटर द्वारा पूरे शहर की निगरानी रखी जाएगी. लगभग पूरे शहर को सीसीटीवी (CCTV) की निगरानी में रखा जाएगा. इसके अलावा रैपिड एक्शन फोर्स पूरे शहर में फ्लैग मार्च कर रही है.

फैसले पर किसी तरह की प्रतिक्रिया और जुलूस न निकालें
एसपी सिटी ने ये भी बताया कि कोटा में लगभग 29 संवेदनशील क्षेत्रों का चयन किया गया है, जहां कोटा पुलिस की विशेष निगरानी रहेगी. साथ ही पुराने शातिर बदमाशों और शरारती तत्वों को कानूनी रूप से पाबंद करया जा रहा है. राम मंदिर (Ram Mandir) फैसले के मद्देनजर एसपी दीपक ने कोटा की जनता से भी अपील की है कि फैसले पर किसी तरह की प्रतिक्रिया और जुलूस न निकालें. इस दौरान किसी भी तरह की यात्रा पर पाबंदी रहेगी. पुलिस का ये कहना है कि फैसला जो भी आए, उसका स्वागत करें और आपसी सौहार्द बनाए रखें.

Edited By : Ashish Chaubey, News Desk