close

खास खबरें सिर्फ आपके लिए...हम खासतौर से आपके लिए कुछ चुनिंदा खबरें लाए हैं. इन्हें सीधे अपने मेलबाक्स में प्राप्त करें.

राजस्थान के कुछ इलाकों में जमकर हुई बारिश, सूखी नदियों में भरा पानी

पीसांगन उपखंड के रामपुरा डाबला, बुधवाड़ा, फतेहपुरा, कालेसरा समेत देहात में जमकर बरसात हुई. जिसके कारण रामपुरा डाबला व बुधवाड़ा में जल भराव की स्थिति पैदा हो गई.

राजस्थान के कुछ इलाकों में जमकर हुई बारिश, सूखी नदियों में भरा पानी
निचली बस्तियों में पानी भर गया.

पीसांगन: सावन के पांचवें दिन इंद्र देव ने पीसांगन उपखंड के रामपुरा डाबला, बुधवाड़ा, फतेहपुरा, कालेसरा समेत देहात में जमकर नेमत बरसाई. जिसके कारण रामपुरा डाबला व बुधवाड़ा में जल भराव की स्थिति पैदा हो गई. निचली बस्तियों में पानी भर गया. वहीं शाम को हालातों का जायजा लेने के लिए तहसीलदार किसनाराम चौधरी मौके पर पहुंचे.

तहसीलदार किसनाराम चौधरी ने हल्का पटवारियों को स्थिति पर नजर बनाए रखने के निर्देश दिए. इस दौरान कस्बे में महज 15 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई. जानकारी के अनुसार दोपहर बाद कस्बे में 10-15 मिनट तक बादल बरसे. वहीं रामपुरा डाबला, बुधवाड़ा, कालेसरा, फतेहपुरा आदि गांवों में जमकर पानी बरसा और देखते ही देखते रामपुरा डाबला व बुधवाड़ा में जलभराव की स्थिति पैदा हो गई. 

इस दौरान रामपुरा डाबला में गांवाई नाड़ी लबालब हो गई और उसकी करीब डेढ़ फीट तक चादर चल पड़ी. चादर चलने के बाद शाम साढ़े 7 बजे गांवाई नाड़ी का पानी पीसांगन के विनायक जी की बावड़ी स्थित गणेश सागर में जा पहुंचा. 2007 के बाद चली चादर को देखने के लिए ग्रामीण उमड़ पड़े. इस दौरान बुधवाड़ा के हरिपुरा में व रामपुरा डाबला के तेजा चौक, रेबारियों के मौहल्ले समेत निचले इलाकों में जलभराव हो गया. 

जलभराव के चलते शाम को तहसीलदार किसनाराम चौधरी मौके पर पहुंचे और गांवाई नाड़ी समेत पानी के बहाव क्षेत्रो का बारीकी से जायजा लेकर ग्रामीणों से बातचीत की. हल्का पटवारियों को भी निर्देशित किया. तेज वर्षा संग चली तुफानी हवाओं की बदौलत रामपुरा डाबला के कालूराम जी की बेरी के पास फतेहपुरा फीडर में 11 हजार केवी हाईटेंशन लाइन का पोल जमींदोज हो गया. जिसके चलते मौके पर पहुंचे फीडर इंचार्ज दयाराम ने उक्त क्षेत्र में बिजली सप्लाई कटवा कर अन्य क्षेत्रों की बिजली सप्लाई रात्रि 8 बजे शुरू करवाई. 

वहीं तेज बरसात के कारण बेरी के पास पिचोलिया पीसांगन मार्ग, रामपुरा डाबला गांव में जाने वाला रास्ता, बुधवाड़ा में हरिपुरा मौहल्ले से गुजरने वाले रास्ते में जलभराव के चलते आवागमन रुक गया. इस दौरान बुधवाड़ा के हरिपुरा में कई घरों में पानी भर गयां तेज बरसात के साथ ही फतेहपुरा में कांकरिया एनीकट, कालेसरा के छोटा तालाब, अखेपुरा के मॉडल तालाब में पानी की अच्छी आवक हुई. 

वहीं गांवाई नाडी बुधवाड़ा, बुधवारा के दांतड़ा रोड स्थित रपट समेत कई जलाशय लबालब हो गए व खेत जलमग्न गए. वहीं गणेश सागर की शाम को चादर चलने के बाद वह पानी पीसांगन के रामपुरा डाबला रोड स्थित साबरमती नदी की रपट से होता हुआ गोविंदगढ़ बांध की ओर जाने लगा और वर्ष 2007 के बाद दिखे सुखी नदी में पानी आने के इस नजारे को देखने के लिए रात्रि 10 पीसांगन वासियों की मौके पर भीड़ जमा हो गई.